ब्रिटेन की लेबर पार्टी का वादा, चुनाव जीते तो जलियांवाला नरसंहार पर भारत से मांगेंगे माफी

briten
ब्रिटेन की लेबर पार्टी का वादा, चुनाव जीते तो जलियांवाला नरसंहार पर भारत से मांगेंगे माफी

नई दिल्ली। ब्रिटेन की विपक्षी लेबर पार्टी ने 12 दिसंबर को होने वाले आम चुनाव के लिए बृहस्पतिवार को अपना घोषणा पत्र जारी किया। इस घोषणा पत्र में देश के औपनिवेशिक अतीत का लेखा-जोखा प्रस्तुत करने की शपथ लेने के साथ 100 साल पहले हुए अमृतसर में जलियांवाला बाग हत्याकांड के लिए भारत से माफी मांगना शामिल है।

Britains Labor Party Promises Will Win Apology To India On Winning Jallianwala Massacre :

ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने इस नरसंहार के 100 साल होने पर औपनिवेशिक काल में हुई इस बर्बर घटना के लिए गहरा अफसोस जताया था लेकिन उन्होंने माफी नहीं मांगी थी। 107 पन्नों के घोषणापत्र ‘इट्स टाइम फोर रीयल चेंज’ को लेबर पार्टी के नेता जेरमी कोर्बिन ने पेश किया।

पार्टी ने इसमें आगे बढ़ने और माफी मांगने का संकल्प जताया है। दस्तावेज में यह भी कहा गया है कि लेबर पार्टी ब्रिटेन के ‘अतीत में हुए अन्याय’ की जांच के लिए एक न्यायाधीश के नेतृत्व वाली समिति बनाएगी। इसके अलावा ऑपरेशन ब्लूस्टार में देश की भूमिका की समीक्षा भी की जाएगी।

इस घोषणापत्र के उप शीर्षक प्रभावी कूटनीति में कहा गया है कि हम जलियांवाला बाग नरसंहार के लिए औपचारिक माफीनामा जारी करेंगे और ऑपरेशन ब्लू स्टार के संबंध में ब्रिटेन की भूमिका की समीक्षा करेंगे।

वर्ष 2014 में ब्रिटेन सरकार के सार्वजनिक हुए दस्तावेजों से खुलासा हुआ था कि स्वर्ण मंदिर में भारतीय सेना के घुसने के पहले भारतीय सुरक्षा बलों को ब्रिटिश सेना ने सलाह दी थी। ब्रिटेन के कुछ सिख समूह वर्षों से मांग कर रहे हैं कि सार्वजिनक जांच होनी चाहिए कि किस तरह की सलाह दी गयी थी।  

नई दिल्ली। ब्रिटेन की विपक्षी लेबर पार्टी ने 12 दिसंबर को होने वाले आम चुनाव के लिए बृहस्पतिवार को अपना घोषणा पत्र जारी किया। इस घोषणा पत्र में देश के औपनिवेशिक अतीत का लेखा-जोखा प्रस्तुत करने की शपथ लेने के साथ 100 साल पहले हुए अमृतसर में जलियांवाला बाग हत्याकांड के लिए भारत से माफी मांगना शामिल है। ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने इस नरसंहार के 100 साल होने पर औपनिवेशिक काल में हुई इस बर्बर घटना के लिए गहरा अफसोस जताया था लेकिन उन्होंने माफी नहीं मांगी थी। 107 पन्नों के घोषणापत्र ‘इट्स टाइम फोर रीयल चेंज’ को लेबर पार्टी के नेता जेरमी कोर्बिन ने पेश किया। पार्टी ने इसमें आगे बढ़ने और माफी मांगने का संकल्प जताया है। दस्तावेज में यह भी कहा गया है कि लेबर पार्टी ब्रिटेन के ‘अतीत में हुए अन्याय’ की जांच के लिए एक न्यायाधीश के नेतृत्व वाली समिति बनाएगी। इसके अलावा ऑपरेशन ब्लूस्टार में देश की भूमिका की समीक्षा भी की जाएगी। इस घोषणापत्र के उप शीर्षक प्रभावी कूटनीति में कहा गया है कि हम जलियांवाला बाग नरसंहार के लिए औपचारिक माफीनामा जारी करेंगे और ऑपरेशन ब्लू स्टार के संबंध में ब्रिटेन की भूमिका की समीक्षा करेंगे। वर्ष 2014 में ब्रिटेन सरकार के सार्वजनिक हुए दस्तावेजों से खुलासा हुआ था कि स्वर्ण मंदिर में भारतीय सेना के घुसने के पहले भारतीय सुरक्षा बलों को ब्रिटिश सेना ने सलाह दी थी। ब्रिटेन के कुछ सिख समूह वर्षों से मांग कर रहे हैं कि सार्वजिनक जांच होनी चाहिए कि किस तरह की सलाह दी गयी थी।