मणिपुर में 100 करोड़ रूपये की ब्राउन शुगर बरामद, एक महिला समेत तीन गिरफ्तार

manipur
मणिपुर में 100 करोड़ रूपये की ब्राउन शुगर बरामद, एक महिला समेत तीन गिरफ्तार

नई दिल्ली। मणिपुर के थौबल जिले के लिलोंग डैम में दवा बनाने वाली अवैध फैक्ट्री से पुलिस ने 111.20 किलोग्राम ब्राउन शुगर जब्त कर ली है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत 100 करोड़ रुपये से अधिक है। पुलिस ने शनिवार को इसकी जानकारी दी। एनएबी पुलिस अधीक्षक डब्ल्यू बासु सिंह ने बताया कि नारकोटिक्स एंड अफेयर्स ऑफ बॉर्डर (एनएबी) और मणिपुर पुलिस के संयुक्त अभियान में इसका पता लगाया गया।

Brown Sugar Worth Rs 100 Crore Recovered In Manipur Three Arrested :

एक महिला सहित तीन लोग गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक डब्ल्यू बासु सिंह ने कहा कि कथित तौर पर अवैध फैक्ट्री चलाने के आरोप में एक महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने इस कार्रवाई का श्रेय स्थानीय स्वयंसेवी संगठन ‘अजुमन’ के सक्रिय सहयोग को दिया।

मणिपुर के इतिहास में मादक पदार्थ की सबसे बड़ी जब्ती

डब्ल्यू बासु सिंह ने कहा कि कारखाने से नशे के सामान के अलावा उपकरण, कंटेनर, रसायन, लोहे के प्लेटें आदि बरामद किए गए। सिंह ने दावा किया कि यह मणिपुर के इतिहास में मादक पदार्थ की यह सबसे बड़ी जब्ती है। इस कारखाने के तार कहां से जुड़े हुए थे इसका पता लगाने की पुलिस कोशिश कर रही है। पुलिस का लक्ष्य इस काम में जुड़े हुए सभी लोगों को सामने लाना है।

नई दिल्ली। मणिपुर के थौबल जिले के लिलोंग डैम में दवा बनाने वाली अवैध फैक्ट्री से पुलिस ने 111.20 किलोग्राम ब्राउन शुगर जब्त कर ली है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत 100 करोड़ रुपये से अधिक है। पुलिस ने शनिवार को इसकी जानकारी दी। एनएबी पुलिस अधीक्षक डब्ल्यू बासु सिंह ने बताया कि नारकोटिक्स एंड अफेयर्स ऑफ बॉर्डर (एनएबी) और मणिपुर पुलिस के संयुक्त अभियान में इसका पता लगाया गया। एक महिला सहित तीन लोग गिरफ्तार पुलिस अधीक्षक डब्ल्यू बासु सिंह ने कहा कि कथित तौर पर अवैध फैक्ट्री चलाने के आरोप में एक महिला सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने इस कार्रवाई का श्रेय स्थानीय स्वयंसेवी संगठन 'अजुमन' के सक्रिय सहयोग को दिया। मणिपुर के इतिहास में मादक पदार्थ की सबसे बड़ी जब्ती डब्ल्यू बासु सिंह ने कहा कि कारखाने से नशे के सामान के अलावा उपकरण, कंटेनर, रसायन, लोहे के प्लेटें आदि बरामद किए गए। सिंह ने दावा किया कि यह मणिपुर के इतिहास में मादक पदार्थ की यह सबसे बड़ी जब्ती है। इस कारखाने के तार कहां से जुड़े हुए थे इसका पता लगाने की पुलिस कोशिश कर रही है। पुलिस का लक्ष्य इस काम में जुड़े हुए सभी लोगों को सामने लाना है।