बॉर्डर पर तैनात महिला जवानों के लिए अनुकूल सुविधाएं होना जरूरी: गृह मंत्री

नई दिल्ली। सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के 53वें स्थापना दिवस के मौके पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार उन सीमा चौकियों पर बुनियादी और साजोसामान सुविधाओं में वृद्धि करेगी जहां विभिन्न सीमा रक्षक बलों की कमान के तहत महिला कर्मियों की तैनाती की गई है। उन्होंने यह भी कहा कि महिलाओं के लिए इन दूरदराज क्षेत्रों में ‘महिलाओं के अनुकूल’ सुविधाएं होनी जरूरी है क्योंकि वर्तमान सहायक प्रणाली में खामी है।




उन्होंने कहा कि उन सीमा चौकियों पर महिलाओं के अनुकूल बुनियादी ढांचा होना जरूरी है जहां महिलाएं तैनात की गई है,मेरा मानना है कि इस संबंध में कमी है। इसे सुधारने की जरूरत है। मेरा मानना है कि उन सीमा चौकियों पर जहां महिलाकर्मियों की तैनाती की गई है अधिक सुविधाएं मुहैया कराई जानी चाहिए।’ एसएसबी के अलावा पाकिस्तान और बांग्लादेश की सीमाओं पर तैनात सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) और (चीन-भारत सीमा पर तैनात) भारत-तिब्बत सीमा पुलिस(आईटीबीपी)ने अपने सीमा पहरेदारी चार्टर के तहत महिला कर्मियों की तैनाती की है।