तेज बहादुर यादव का शराब पीते Video हुआ वायरल

tej bahadur
तेज बहादुर यादव का शराब पीते Video हुआ वायरल

नई दिल्ली। वाराणसी के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी के खिलाफ ताल ठोंकने वाले सपा प्रत्याशी तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द होने के बाद रविवार को कथित वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा हैं। जिसमे वो हाथ में शराब का गिलास लिए शराब पीते नजर आ रहे हैं।

Bsf Tej Bahadur Yadav Drinking Alcohol Video Viral In Varanasi :

साथ ही कुछ और लोग भी बैठे नजर आ रहे है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में तेजबहादुर नजर आ रहे है और साथ ने एक शख्स नजर आ रहा हैं जो कह रहा हैं ये तेज बहादुर यादव हैं पूर्व BSF जवान।

इस वीडियो की अभी तक पुष्टि नही हो पाई हैं, कि यह वीडियो कब का हैं और तेज बहादुर यादव का बार-बार नाम ले रहा शख्स कौन हैं। इस मामले में अभी तक तेज बहादुर यादव द्वारा कोई भी बयान सामने नहीं आया हैं।

इससे पहले तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द होने के बाद उनके खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन का मामले कैंट थाने में दर्ज किया गया था। तेज बहादुर यादव ने खुलासा करते हुए कहा, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का गेम प्लान था कि मैं दो बार पर्चा भरूं। सपा की तरफ से पहले से घोषित उम्मीदवार शालिनी जी के साथ भी दाखिल करूं। लेकिन नरेंद्र मोदी ने मेरा पर्चा खारिज करा दिया।

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में शालिनी ने कांग्रेस से टिकट मांगा था। टिकट न मिलने के बाद उन्होंने कांग्रेस छोड़कर सपा का दामन थाम लिया। सपा ने उन्हें पहले अपना प्रत्याशी बनाया, लेकिन ऐन मौके पर टिकट काटकर तेज बहादुर यादव को दे दिया।

नई दिल्ली। वाराणसी के लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी के खिलाफ ताल ठोंकने वाले सपा प्रत्याशी तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द होने के बाद रविवार को कथित वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा हैं। जिसमे वो हाथ में शराब का गिलास लिए शराब पीते नजर आ रहे हैं। साथ ही कुछ और लोग भी बैठे नजर आ रहे है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में तेजबहादुर नजर आ रहे है और साथ ने एक शख्स नजर आ रहा हैं जो कह रहा हैं ये तेज बहादुर यादव हैं पूर्व BSF जवान। इस वीडियो की अभी तक पुष्टि नही हो पाई हैं, कि यह वीडियो कब का हैं और तेज बहादुर यादव का बार-बार नाम ले रहा शख्स कौन हैं। इस मामले में अभी तक तेज बहादुर यादव द्वारा कोई भी बयान सामने नहीं आया हैं। इससे पहले तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द होने के बाद उनके खिलाफ आचार संहिता के उल्लंघन का मामले कैंट थाने में दर्ज किया गया था। तेज बहादुर यादव ने खुलासा करते हुए कहा, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का गेम प्लान था कि मैं दो बार पर्चा भरूं। सपा की तरफ से पहले से घोषित उम्मीदवार शालिनी जी के साथ भी दाखिल करूं। लेकिन नरेंद्र मोदी ने मेरा पर्चा खारिज करा दिया। आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में शालिनी ने कांग्रेस से टिकट मांगा था। टिकट न मिलने के बाद उन्होंने कांग्रेस छोड़कर सपा का दामन थाम लिया। सपा ने उन्हें पहले अपना प्रत्याशी बनाया, लेकिन ऐन मौके पर टिकट काटकर तेज बहादुर यादव को दे दिया।