बसपा सुप्रीमों मायावती ने कहा- भाजपा ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया, पढ़ें Live अपडेट्स

mayawati,बसपा सुप्रीमों मायावती
बसपा सुप्रीमों मायावती ने कहा- भाजपा ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया, पढ़ें Live अपडेट्स

लखनऊ। राज्यसभा चुनाव के नतीजों के बाद शनिवार को बसपा मुखिया मायावती ने प्रेस कान्फ्रेंस कर भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) पर जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा, राज्यसभा चुनाव में भाजपा ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया है। योगी सरकार ने प्रदेश में भाय का महौल पैदा कर दिया है।

Bsp Mayawati Live Update :

मायावती ने पत्रकारवार्ता के दौरान कहा, सपा के साथ मिलकर हमने रणनीति बनाई लेकिन सत्ताधारी सरकार अपने हथकंडों से बाज नहीं आई। उन्होंने कहा कि बसपा अब अपनी नई रणनीति पर काम करेगी। भाजपा की अराजकता जारी है, इसलिए लोकसभा उपचुनाव में बसपा ने सपा का समर्थन किया, गोरखपुर और फूलपुर में दिन में तारे नजर आए।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने इस चुनाव में पूरी तरह धनबल और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया। मायावती के कहा कि बीजेपी ने ये सब इसलिए किया जिससे सपा-बसपा के बीच दूरी फिर से हो जाए।

मायावती ने कहा, भाजपा ने अपना एक अतिरिक्त उम्मीदवार खड़ा कर इस चुनाव को अलग रूप देने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अलोकतांत्रिक हथकंडे अपनाए। भाजपा चाहती है कि सपा-बसपा की नजदीकी खत्म हो जाए, ताकि अगले लोकसभा चुनाव में भाजपा को होने वाले नुकसान से बचा जा सका।

लखनऊ। राज्यसभा चुनाव के नतीजों के बाद शनिवार को बसपा मुखिया मायावती ने प्रेस कान्फ्रेंस कर भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) पर जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा, राज्यसभा चुनाव में भाजपा ने सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया है। योगी सरकार ने प्रदेश में भाय का महौल पैदा कर दिया है।मायावती ने पत्रकारवार्ता के दौरान कहा, सपा के साथ मिलकर हमने रणनीति बनाई लेकिन सत्ताधारी सरकार अपने हथकंडों से बाज नहीं आई। उन्होंने कहा कि बसपा अब अपनी नई रणनीति पर काम करेगी। भाजपा की अराजकता जारी है, इसलिए लोकसभा उपचुनाव में बसपा ने सपा का समर्थन किया, गोरखपुर और फूलपुर में दिन में तारे नजर आए।उन्होंने कहा कि भाजपा ने इस चुनाव में पूरी तरह धनबल और सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग किया। मायावती के कहा कि बीजेपी ने ये सब इसलिए किया जिससे सपा-बसपा के बीच दूरी फिर से हो जाए।मायावती ने कहा, भाजपा ने अपना एक अतिरिक्त उम्मीदवार खड़ा कर इस चुनाव को अलग रूप देने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अलोकतांत्रिक हथकंडे अपनाए। भाजपा चाहती है कि सपा-बसपा की नजदीकी खत्म हो जाए, ताकि अगले लोकसभा चुनाव में भाजपा को होने वाले नुकसान से बचा जा सका।