BSP सांसद अतुल राय ने जेल में बताया खुद की जान को खतरा, सुरक्षा की लगाई गुहार

atul roy
दुष्कर्म के आरोप में जेल में बंद बीएसपी सांसद अतुल राय ने जान का खतरा बताया, सुरक्षा की लगाई गुहार

वाराणसी। दुष्कर्म के आरोप में अदालत में समर्पण करन वाले बीएसपी सांसद अतुल राय को जेल में डर सता रहा है। जेल में अपनी जान का खतरा बताकर अतुल राय ने सुरक्षा की गुहार लगाई है। अभी तक लोकसभा में शपथ ग्रहण न कर सकने वाले अतुल राय ने गुरुवार को अदालत में दो आवेदन दाखिल किया है, जिसमें सुरक्षा मांगी है। अतुल राय ने शनिवार को वाराणसी की एक अदालत में समर्पण किया था। उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। अतुल राय के साथ उनके सैकड़ों समर्थक इस दौरान वहां मौजूद रहे और उनके समर्थन में नारेबाजी करते रहे।

Bsp Mp Atul Rai Life Threat In Jail Application Filed In Court For Protection :

बता दें कि घोसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने वाले अतुल राय के खिलाफ वाराणसी के लंका थाने में एक युवती ने दुष्कर्म का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज कराया, जिसके बाद पुलिस अतुल राय की तलाश में जुट गयी थी। इसके चलते अतुल राय ने अपना चुनाव प्रचार छोड़ दिया था और फरार थे। हालांकि शनिवार को उन्होंने कोर्ट में समर्पण कर दिया था, जिसके बाद उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया था।

बीएसपी सांसद अतुल राय ने गुरुवार को अदालत में दो आवेदन दाखिल किये। पहले आवदेन में उन्होंने कहा कि वे घोसी से नवनिर्वाचित सांसद हैं। अभी तक लोकसभा में शपथ ग्रहण नहीं कर सके हैं। 17 जून से 26 जुलाई तक चलने वाले सत्र में नवनिर्चाचित सांसदों को शपथ ग्रहण करना है। ऐसे मं पुलिस अभिरक्षा में उन्हें संसद भेजकर शपथ ग्रहण कराने की अनुमति दी जाये। इसके साथ ही जिला निर्वाचन अधिकारी की ओर से जारी प्रमाणपत्र और संसद सत्र का शेड्यूल भी अतुल राय के वकील ने कोर्ट में दाखिल किया है।

इसके साथ ही अतुल राय के वकील अनुज यादव की ओर से दिये गए दूसरे आवेदन में कहा गया है कि उन्हें जेल में जान का खतरा है। अतुल राय को डर है कि उन्हें खाने में जहर मिला कर जान से मारा जा सकता है। ऐसा वाराणसी जेल में पहले भी हो चुका है। ऐसे में उन्हें घर का भोजन दिये जाने की अनुमति दी जाये। साथ ही अतुल राय को सुरक्षा दी जाये।

वाराणसी। दुष्कर्म के आरोप में अदालत में समर्पण करन वाले बीएसपी सांसद अतुल राय को जेल में डर सता रहा है। जेल में अपनी जान का खतरा बताकर अतुल राय ने सुरक्षा की गुहार लगाई है। अभी तक लोकसभा में शपथ ग्रहण न कर सकने वाले अतुल राय ने गुरुवार को अदालत में दो आवेदन दाखिल किया है, जिसमें सुरक्षा मांगी है। अतुल राय ने शनिवार को वाराणसी की एक अदालत में समर्पण किया था। उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। अतुल राय के साथ उनके सैकड़ों समर्थक इस दौरान वहां मौजूद रहे और उनके समर्थन में नारेबाजी करते रहे। बता दें कि घोसी लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने वाले अतुल राय के खिलाफ वाराणसी के लंका थाने में एक युवती ने दुष्कर्म का आरोप लगाकर मुकदमा दर्ज कराया, जिसके बाद पुलिस अतुल राय की तलाश में जुट गयी थी। इसके चलते अतुल राय ने अपना चुनाव प्रचार छोड़ दिया था और फरार थे। हालांकि शनिवार को उन्होंने कोर्ट में समर्पण कर दिया था, जिसके बाद उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया था। बीएसपी सांसद अतुल राय ने गुरुवार को अदालत में दो आवेदन दाखिल किये। पहले आवदेन में उन्होंने कहा कि वे घोसी से नवनिर्वाचित सांसद हैं। अभी तक लोकसभा में शपथ ग्रहण नहीं कर सके हैं। 17 जून से 26 जुलाई तक चलने वाले सत्र में नवनिर्चाचित सांसदों को शपथ ग्रहण करना है। ऐसे मं पुलिस अभिरक्षा में उन्हें संसद भेजकर शपथ ग्रहण कराने की अनुमति दी जाये। इसके साथ ही जिला निर्वाचन अधिकारी की ओर से जारी प्रमाणपत्र और संसद सत्र का शेड्यूल भी अतुल राय के वकील ने कोर्ट में दाखिल किया है। इसके साथ ही अतुल राय के वकील अनुज यादव की ओर से दिये गए दूसरे आवेदन में कहा गया है कि उन्हें जेल में जान का खतरा है। अतुल राय को डर है कि उन्हें खाने में जहर मिला कर जान से मारा जा सकता है। ऐसा वाराणसी जेल में पहले भी हो चुका है। ऐसे में उन्हें घर का भोजन दिये जाने की अनुमति दी जाये। साथ ही अतुल राय को सुरक्षा दी जाये।