कांशीराम स्मारक मैदान में ‘माया’ का शक्ति प्रदर्शन, निशाने पर रहे मोदी

Bsp Supremo Mayawati To Hold Lucknow Rally On Sunday





लखनऊ। कांशीराम की पुण्यतिथि पर मायावती ने अपनी सियासी ताक़त की आजमाइश लखनऊ में की। लखनऊ के कांशीराम स्मारक मैदान में रविवार को हुई रैली में बसपा की जबरस्त भीड़ जुटी, पूरे राज्य में पांच सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय रैली के बाद मायावती ने अपनी ये रैली लखनऊ में कर विरोधियों को अपनी ताकत का एहसास कराया। पार्टी ने दावा किया कि लखनऊ में उनके 20 लाख कार्यकर्त्ता जुटे और इतनी बड़ी रैली करना किसी के बस की बात नहीं। सर्जिकल स्ट्राइक पर मोदी सरकार को घेरते हुए मायावती ने कहा कि सरकार को ढाई साल बाद सीमाओं को सुरक्षित करने का खयाल आया, साथ ही उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक देरी से लिया गया फैसला है, बीजेपी को पठानकोट हमले के बाद ये कार्रवाई करनी चाहिए थी।

इतनी ही नहीं बसपा सुप्रीमो मायावती ने मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि बीजेपी शासन में सीबीआई का इस्तेमाल अपने विरोधियों के खिलाफ किया जा रहा है। मायावती ने कहा कि मोदी सरकार आरएसएस(RSS) के इशारे पर आरक्षण ख़त्म करने की साजिश कर रही है, पहले तो मुसलमानो का उत्पीड़न होता था लेकिन मोदी के राज में अब गौ हत्या के नाम पर दलितों का उत्पीड़न हो रहा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी शासित राज्यों में दलितों पर अत्याचार की हद हो गई है, साथ ही उन्होंने कहा कि पीएम मोदी का वादा खोखला निकला। ढाई साल के शासन में मोदी ने एक भी वादा पूरा नहीं किया। उन्होंने अपील की कि मुसलमान अपना वोट न बंटने दें वर्ना फायदा सिर्फ बीजेपी का होगा।




राजनीतिक स्वार्थ में दशहरा लखनऊ में मना रहे मोदी—

मायावती ने पीएम मोदी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि मोदी ने बातें की थी ‘सबका साथ, सबका विकास’, ‘अच्छे दिन आएंगे’ जो सिर्फ जुमला बनकर रह गया है, ये सब हवा हवाई बातें हैं। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि पीएम मोदी राजनीतिक स्वार्थ में दशहरा लखनऊ में मना रहे हैं। मायावती ने पीएम पर हमला करते हुए कहा कि अभी शहीदों की चिताओं की आग ठंडी भी नहीं हुई लेकिन ये लोग जश्न मना रहे हैं।

बसपा बनाएगी पूर्ण बहुमत की सरकार–

मायावती ने 2017 में पूर्ण बहुमत से यूपी में सरकार बनाने का दावा किया साथ ही कहा कि बीजेपी यूपी में तीसरे नंबर की पार्टी होगी या चौथे पर भी जा सकती है। यूपी के हालात राष्ट्रपति शासन लगाए जाने के काबिल हैं।




राहुल का वादा महज छलावा–

मायावती ने हाल ही में यूपी चुनाव के मद्देनजर हुई कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की खाट सभा पर भी निशाना साधा, उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने यूपी में अपर कास्ट के उस चेहरे को आगे किया जिसका भ्रष्टाचार का रिकॉर्ड है। कांग्रेस का कर्ज माफ और बिजली बिल हाफ छलावा है। कांग्रेस ने 70 हजार करोड़ उन किसानों का माफ़ किया था जो एसी कमरों में बैठते थे और कभी खेत का मुंह नहीं देखा।




मुलायम परिवार दो खेमों में बंटा–

मायावती ने कहा कि सपा सरकार में भृष्टाचार और यादव वाद का बोलबाला है, मुलायम परिवार में हुए ताजा विवाद पर मायावती ने चुटकी लेते हुए कहा कि घमासान के बाद अब मुलायम परिवार दो खेमो में बंट गया है। जहां अखिलेश का उम्मीदवार होगा वहां शिवपाल यादव उसे हराएंगे, जहां शिवपाल के उम्मीदवार होंगे वहां अखिलेश यादव के समर्थक उसे हराएंगे। उन्होंने कहा कि अखिलेश सरकार ने दिखावे के शिलान्यास पर हजारों करोड़ खर्च किए।

चार बार यूपी की मुख्यमंत्री रह चुकी मायावती ने कांशीराम स्मारक स्थल पर हजारों की संख्या में जुटे बीएसपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के बाद कांशीराम की मूर्ति पर श्रद्धासुमन अर्पित किये। उन्होंने सपा सरकार की भर्त्सना करते हुए कहा, ‘जब से उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार बनी है तब से यहां हर स्तर पर कानून का राज नहीं बल्कि गुंडों, बदमाशों, माफियाओं, अपराधियों, अराजक एवं सांप्रदायिक तत्वों, भ्रष्टाचारियों का जंगलराज चल रहा है। हत्या, चोरी, लूट, फिरौती, अपहरण, गुंडा टैक्स, महिलाओं का उत्पीडन, जमीनों पर कब्जे, दंगे एवं तनाव की वारदात अब चरम पर हैं।’




बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि उनकी सरकार बनने पर सपा सरकार के शासनकाल में गैर-कानूनी कार्य करने वालों, शातिर गुंडों, बदमाशों, माफियाओं, अपराधियों, अराजक एवं सांप्रदायिक तत्वों, भ्रष्टाचार करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी शिकंजा कस कर जेल की सलाखों के पीछे भेजा जाएगा।

ऐतिहासिक रैली है आज की–

रैली की भीड़ को देखते हुये बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि ये रैली ऐतिहासिक है 20 लाख से ज्यादा लोग इसमें जुटे हैं, उन्होंने बताया कि प्रशासन ने हमारे लोगों को 20 किलोमीटर दूर रोका है बावजूद इसके हमारी रैली ऐतिहासिक रही। सतीश मिश्रा बोले बीजेपी ठीक कहती है उनकी लड़ाई सपा से है क्योंकि बसपा एक नंबर पर है और बीजेपी की लड़ाई सपा और कांग्रेस से है।



लखनऊ। कांशीराम की पुण्यतिथि पर मायावती ने अपनी सियासी ताक़त की आजमाइश लखनऊ में की। लखनऊ के कांशीराम स्मारक मैदान में रविवार को हुई रैली में बसपा की जबरस्त भीड़ जुटी, पूरे राज्य में पांच सर्वजन हिताय सर्वजन सुखाय रैली के बाद मायावती ने अपनी ये रैली लखनऊ में कर विरोधियों को अपनी ताकत का एहसास कराया। पार्टी ने दावा किया कि लखनऊ में उनके 20 लाख कार्यकर्त्ता जुटे और इतनी बड़ी रैली करना किसी के बस की बात नहीं।…