बसपा सुप्रीमो ने मोदी सरकार 2.0 पर साधा निशाना, कहा- विवादों का एक साल

mayawati
बसपा सुप्रीमो ने मोदी सरकार 2.0 पर साधा निशाना, कहा- विवादों का एक साल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। मायावती ने पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल के पहले वर्ष को विवादों ने घिरा बताया है। इसके साथ ही बसपा सुप्रीमो ने पीएम मोदी को कई सलाह देते हुए एक के बाद एक तीन ट्वीट किए। पहले में उन्होंने कहा कि केंद्र में भाजपा सरकार का एक वर्ष पूरा होने पर आज अनेकों दावे किए गए हैं किन्तु वे जमीनी हकीकत व जनता की सोच-समझ से दूर न हों तो बेहतर है। वैसे इनका यह कार्यकाल अधिकतर मामलों में काफी विवादों से घिरा रहा है जिन पर इनको देश व आम जनहित में जरूर गम्भीरता से चिन्तन करना चाहिए।

Bsp Supremo Targets Modi Government 2 0 Says One Year Of Controversies :

मायावती ने कहा कि जबकि देश की लगभग 130 करोड़ जनसंख्या में से अधिकतर गरीबों, बेरोजगारों, किसानों, प्रवासी श्रमिकों व महिलाओं आदि का जीवन तो पहले से भी अधिक अति-कष्टदायक ही बना हुआ है, जो अति-दु;खद है, जिसे जल्दी से भुलाया नहीं जा सकता है। ऐसे में केन्द्र सरकार को अपनी नीतियों व कार्यशैली के बारे में खुले मन से जरूर समीक्षा करनी चाहिए और जहां पर इनकी कमियां रहीं हैं, उन पर इनको पर्दा डालने की बजाय, उन्हें दूर करना चाहिए। बहुजन समाज पार्टी की इनको देश व जनहित में यही सलाह है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। मायावती ने पीएम मोदी के दूसरे कार्यकाल के पहले वर्ष को विवादों ने घिरा बताया है। इसके साथ ही बसपा सुप्रीमो ने पीएम मोदी को कई सलाह देते हुए एक के बाद एक तीन ट्वीट किए। पहले में उन्होंने कहा कि केंद्र में भाजपा सरकार का एक वर्ष पूरा होने पर आज अनेकों दावे किए गए हैं किन्तु वे जमीनी हकीकत व जनता की सोच-समझ से दूर न हों तो बेहतर है। वैसे इनका यह कार्यकाल अधिकतर मामलों में काफी विवादों से घिरा रहा है जिन पर इनको देश व आम जनहित में जरूर गम्भीरता से चिन्तन करना चाहिए। मायावती ने कहा कि जबकि देश की लगभग 130 करोड़ जनसंख्या में से अधिकतर गरीबों, बेरोजगारों, किसानों, प्रवासी श्रमिकों व महिलाओं आदि का जीवन तो पहले से भी अधिक अति-कष्टदायक ही बना हुआ है, जो अति-दु;खद है, जिसे जल्दी से भुलाया नहीं जा सकता है। ऐसे में केन्द्र सरकार को अपनी नीतियों व कार्यशैली के बारे में खुले मन से जरूर समीक्षा करनी चाहिए और जहां पर इनकी कमियां रहीं हैं, उन पर इनको पर्दा डालने की बजाय, उन्हें दूर करना चाहिए। बहुजन समाज पार्टी की इनको देश व जनहित में यही सलाह है।