पूर्व विधायक गुड्डू पंडित और मुकेश शर्मा बसपा से निष्कासित, पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप

guddu and mukesh
पूर्व विधायक गुड्डू पंडित और मुकेश शर्मा बसपा से निष्कासित, पार्टी विरोधी गतिविधयों में शामिल होने का आरोप

नोएडा। बहुजन समाज पार्टी की गौतबुद्धनगर यूनिट ने पूर्व विधायक भगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित और पूर्व विधायक मुकेश शर्मा को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। दोनों नेताओं पर पार्टी विरोधी गतिविधयों में शामिल होने का आरोप है। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव के दौरान कार्यकर्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार का भी आरोप लगाया है। लोकसभा चुनाव 2019 में बसपा ने फतेहपुर सीकरी से गुड्डू पंडित को पार्टी का उम्मीदवार बनाया था।

Bsp Two Former Mla Guddu Pandit And Mukesh Sharma Expelled From The Party :

पार्टी का आरोप है कि इस दौरान गुड्डू पंडित व उनके भाई मुकेश ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार की। पार्टी विरोधी गतिविधयां करने पर कई बार चेतावनी भी दी गई। बावजूद इसके इनकी शिकायत मिलती रही। बसपा का कहना है कि इसी के चलते देानों को पार्टी से निकाला गया है। हालांकि इस बारे में गुड्डू पंडित ने कहा कि वह पहले ही पार्टी को छोड़ चुके हैं। पार्टी की तरफ से ऐसी मांग की जा रही थी, जिसे वह पूरा नहीं कर सकते थे।

वहीं मुकेश ने बसपा को ब्राह्मण विरोधी बताया। बुलंदशहर के बसपा जिलाध्यक्ष ने बताया कि दोनों भाइयों की लगातार शिकायत हाईकमान के पास पहुंच रही थी। बसपा जिलाध्यक्ष ने बताया कि लोकसभा चुनाव से पहले गुड्डू पंडित को पार्टी में शामिल किया गया और फतेहपुर सीकरी से पार्टी ने उन्हें अपना उम्मीदवार बनाया था। हालांकि चुनाव के दौरान दोनों भाई पार्टी के विरोध में काम कर रहे थे। इसके साथ ही बसपा कार्यकर्ताओं से अभद्रता भी किये। लगातर मिल रही शिकायतों के कारण इन्हें पार्टी से निकाला गया है।

नोएडा। बहुजन समाज पार्टी की गौतबुद्धनगर यूनिट ने पूर्व विधायक भगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित और पूर्व विधायक मुकेश शर्मा को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। दोनों नेताओं पर पार्टी विरोधी गतिविधयों में शामिल होने का आरोप है। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव के दौरान कार्यकर्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार का भी आरोप लगाया है। लोकसभा चुनाव 2019 में बसपा ने फतेहपुर सीकरी से गुड्डू पंडित को पार्टी का उम्मीदवार बनाया था। पार्टी का आरोप है कि इस दौरान गुड्डू पंडित व उनके भाई मुकेश ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ अभद्र व्यवहार की। पार्टी विरोधी गतिविधयां करने पर कई बार चेतावनी भी दी गई। बावजूद इसके इनकी शिकायत मिलती रही। बसपा का कहना है कि इसी के चलते देानों को पार्टी से निकाला गया है। हालांकि इस बारे में गुड्डू पंडित ने कहा कि वह पहले ही पार्टी को छोड़ चुके हैं। पार्टी की तरफ से ऐसी मांग की जा रही थी, जिसे वह पूरा नहीं कर सकते थे। वहीं मुकेश ने बसपा को ब्राह्मण विरोधी बताया। बुलंदशहर के बसपा जिलाध्यक्ष ने बताया कि दोनों भाइयों की लगातार शिकायत हाईकमान के पास पहुंच रही थी। बसपा जिलाध्यक्ष ने बताया कि लोकसभा चुनाव से पहले गुड्डू पंडित को पार्टी में शामिल किया गया और फतेहपुर सीकरी से पार्टी ने उन्हें अपना उम्मीदवार बनाया था। हालांकि चुनाव के दौरान दोनों भाई पार्टी के विरोध में काम कर रहे थे। इसके साथ ही बसपा कार्यकर्ताओं से अभद्रता भी किये। लगातर मिल रही शिकायतों के कारण इन्हें पार्टी से निकाला गया है।