1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. BSP अकेले लड़ेगी 2022 का चुनाव, नहीं होगा किसी से गठबंधन : सतीश चंद्र मिश्र

BSP अकेले लड़ेगी 2022 का चुनाव, नहीं होगा किसी से गठबंधन : सतीश चंद्र मिश्र

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Elections 2022) को लेकर बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) सक्रिय हो गयी है। ब्राह्मण सम्मेलन के जरिए पार्टी के कद्दावर नेता सतीश चंद्र मिश्र  (Satish Chandra Mishra) ब्राह्मण वोटर्स पर नजर जमानए हुए हैं और उनको अपने पाले में लाने की कोशिश में जुटे हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Elections 2022) को लेकर बहुजन समाज पार्टी (Bahujan samaj party) सक्रिय हो गयी है। ब्राह्मण सम्मेलन के जरिए पार्टी के कद्दावर नेता सतीश चंद्र मिश्र  (Satish Chandra Mishra) ब्राह्मण वोटर्स पर नजर जमानए हुए हैं और उनको अपने पाले में लाने की कोशिश में जुटे हैं। बसपा (BSP) प्रदेश के सभी जिलों में ब्राह्मण सम्मेलन कर रही है। इसी क्रम में सतीश चंद्र मिश्र (Satish Chandra Mishra) आज लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में पहुंचे थे, जहां उन्होंने कहा कि बसपा 2022 का चुनाव अकेले लड़ेगी और किसी अन्य पार्टी से कोई गठबन्धन नहीं करेंगी।

पढ़ें :- बसपा यूपी में बीजेपी के साथ बनाएगी सरकार ? जानें Satish Chandra Mishra ने क्या दिया जवाब
Jai Ho India App Panchang

लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) में आयोजित प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन की विचार संगोष्ठी को संबोधित करते हुए सतीश चंद्र मिश्रा (Satish Chandra Mishra) ने भाजपा (BJP) सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार (BJP government) में ब्राह्मण सबसे ज्यादा प्रताड़ित है, ब्राह्मणों का यह सरकार शोषण कर रही है।ब्राह्मण चाहे भाजपा सरकार में मंत्री ही क्यों न हो वह भी अपने को प्रताड़ित महसूस कर रहा है, मेरी ऐसे मंत्रियों से बात होती रहती है।

अगर सरकार का कोई भी ब्राह्मण मन्त्री किसी घोटाले की आवाज उठाता है, तो ऊपर से ऐसे दिशा निर्देश हैं कि चाहे 6 गोलियां मारनी पड़ें या 5 उसकी आवाज़ हमेशा के लिये दबा दी जाती है। सतीश मिश्र यहीं नहीं रुके केन्द्र सरकार पर भी निशाना साधते हुये भाजपा की केन्द्रीय सरकार ने तीन काले कानून लाकर देश के किसानों के साथ भी धोखा किया है।

देश का किसान परेशान है उसे उसकी उपज का पूरा मूल्य नहीं मिल रहा है। केन्द्र सरकार किसान को उसकी फसल का दो बार तो पैसा दे देगी लेकिन तीसरी बार किसान का पैसा हड़प कर लिया जायेगा। उन्होंने देश के ब्राह्मण समाज से एक होकर बसपा के साथ आने का आवाहन किया। सतीश मिश्रा के साथ बसपा सरकार में पूर्व मन्त्री नकुल दुबे सहित अन्य नेता भी मंचासीन रहे।

रिपोर्ट—एस.डी. त्रिपाठी, लखीमपुर खीरी

पढ़ें :- Rakesh Tikait के नारे के सहारे यूपी में चुनावी वैतरणी पार करने की जुगत में माया, विरोधियों पर किया बड़ा वार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...