बजट 2020: प्रधानमंत्री की SPG सुरक्षा का बजट 540 करोड़ से बढ़कर हुआ 600 करोड़

modi
बजट 2020: प्रधानमंत्री की SPG सुरक्षा का बजट 540 करोड़ से बढ़कर हुआ 600 करोड़

नई दिल्ली। सरकार ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए आवंटित विशेष सुरक्षा समूह (SPG) के लिए दिए जाने वाले बजट में वृद्धि की है। अब इसे 540 करोड़ रुपये से बढ़ाकर लगभग 600 करोड़ रुपए कर दिया गया है। पिछले साल के बजट में इसे 420 करोड़ रुपए से बढ़ाकर लगभग 540 करोड़ रुपए किया गया था।  वर्तमान में केवल प्रधानमंत्री के पास 300 जवानों वाली एसपीजी सुरक्षा है।

Budget 2020 Prime Ministers Spg Security Budget Increased From 540 Crores To 600 Crores :

पिछले साल भी एसपीजी के बजट को बढ़ाया गया था। साल 2018 तक एसपीजी का बजट 420 करोड़ रुपये था जिसे 2019 में बढ़ाकर 540 करोड़ रुपये कर दिया गया। बता दें कि हाल ही में गांधी परिवार से भी एसपीजी सुरक्षा को वापस लिया गया है। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से भी अगस्त में एसपीजी की सुरक्षा को वापस ले लिया गया था. इसके बाद उन्हे जेड प्लस सिक्योरिटी दी गई।

गौरतलब है कि हाल ही में सरकार ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की एसपीजी सुरक्षा ये कारण देकर हटा ली थी कि गांधी परिवार ने एसपीजी सुरक्षा मानदंडों का खुद ही लंबे समय से ख्याल नहीं रखा था। साथ ही हालिया सुरक्षा समीक्षा के दौरान इसकी जरूरत भी नहीं पायी गई। 1991 में राजीव गांधी के प्रधानमंत्री बनने के बाद पूरे परिवार को ही एसपीजी की सुरक्षा दी गई थी।

आपको बता दें कि एसपीजी में पेशेवर और आधुनिक उपकरणों से लैस सुरक्षाकर्मी मौजूद रहते हैं। ग्रह मंत्रालय के अंतर्गत ये फोर्स आती है। 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद ये निर्णय लिया गया कि प्रधानमंत्री को विशेष सुरक्षा देनी चाहिए। इसके बाद एसपीजी का गठन किया गया।

नई दिल्ली। सरकार ने प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए आवंटित विशेष सुरक्षा समूह (SPG) के लिए दिए जाने वाले बजट में वृद्धि की है। अब इसे 540 करोड़ रुपये से बढ़ाकर लगभग 600 करोड़ रुपए कर दिया गया है। पिछले साल के बजट में इसे 420 करोड़ रुपए से बढ़ाकर लगभग 540 करोड़ रुपए किया गया था।  वर्तमान में केवल प्रधानमंत्री के पास 300 जवानों वाली एसपीजी सुरक्षा है। पिछले साल भी एसपीजी के बजट को बढ़ाया गया था। साल 2018 तक एसपीजी का बजट 420 करोड़ रुपये था जिसे 2019 में बढ़ाकर 540 करोड़ रुपये कर दिया गया। बता दें कि हाल ही में गांधी परिवार से भी एसपीजी सुरक्षा को वापस लिया गया है। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से भी अगस्त में एसपीजी की सुरक्षा को वापस ले लिया गया था. इसके बाद उन्हे जेड प्लस सिक्योरिटी दी गई। गौरतलब है कि हाल ही में सरकार ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी की एसपीजी सुरक्षा ये कारण देकर हटा ली थी कि गांधी परिवार ने एसपीजी सुरक्षा मानदंडों का खुद ही लंबे समय से ख्याल नहीं रखा था। साथ ही हालिया सुरक्षा समीक्षा के दौरान इसकी जरूरत भी नहीं पायी गई। 1991 में राजीव गांधी के प्रधानमंत्री बनने के बाद पूरे परिवार को ही एसपीजी की सुरक्षा दी गई थी। आपको बता दें कि एसपीजी में पेशेवर और आधुनिक उपकरणों से लैस सुरक्षाकर्मी मौजूद रहते हैं। ग्रह मंत्रालय के अंतर्गत ये फोर्स आती है। 1984 में इंदिरा गांधी की हत्या के बाद ये निर्णय लिया गया कि प्रधानमंत्री को विशेष सुरक्षा देनी चाहिए। इसके बाद एसपीजी का गठन किया गया।