1. हिन्दी समाचार
  2. विधानभवन में फर्जी दफ्तर बनाकर नमक की सप्लाई के नाम पर एक करोड़ रुपए हड़पे

विधानभवन में फर्जी दफ्तर बनाकर नमक की सप्लाई के नाम पर एक करोड़ रुपए हड़पे

Build A Fake Office In Vidhan Bhavan And Grab One Crore Rupees In The Name Of Salt Supply

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

लखनऊ: पशुधन फर्जीवाड़े में नौ करोड़ रुपए हड़पने के आरोपी आशीष राय ने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में नमक का 120 करोड़ रुपए का ठेका दिलाने के नाम पर भी अहमदाबाद के व्यापारी नीलम नरेन्द्र भाई पटेल से एक करोड़ दो लाख रुपए हड़प लिए थे। इस व्यापारी को फंसाने के लिए भी आशीष राय ने विधानभवन के अंदर ही ज्वाइन्ट सेक्रेटरी एनके कनौजिया का बोर्ड लगाकर फर्जीवाड़ा किया। आशीष ही पीड़ित से एनके कनौजिया बनकर मिलता था।

पढ़ें :- सपने में दिखें ये चीजें तो समझ जाइए शुरू होने वाला है आपका अच्छा समय, बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा

इस डील के लिए दिल्ली के कनॉट प्लेस और लखनऊ गोमतीनगर के होटल नोवोटेल में मीटिंग की गई। इसमें भी सचिवालय के कई कर्मचारियों का नाम सामने आ रहा है। पीड़ित को जब आशीष राय के पशुधन फर्जीवाड़े में गिरफ्तार होने की खबर मिली तो वह लॉकडाउन खत्म होने पर लखनऊ आया। सच सामने आने के बाद ही उसने हजरतगंज कोतवाली में सात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई । आरोपियों में दो जालसाज पहले से ही जेल में है।

हजरतगंज पुलिस के मुताबिक पीड़ित व्यापारी नीलम नरेन्द्र ने सुनील गुर्जर उर्फ मोंटी गुर्जर, एन के कनौजिया उर्फ आशीष रॉय, राघव, एस के अग्निहोत्री, रितुल जोशी, लोकेश मिश्रा, कलीम अहमद व अन्य को नामजद किया है। इनके खिलाफ आईपीसी की धारा 120बी, 419, 420, 467, 468, 471, 506 और भ्र्ष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत लिखा गया है।

अहमदाबाद के नीलम खाद्य विभाग में अपने दोस्त जिगर राजेन्द्र भाई गंज वाला के साथ सामान की सप्लाई का ठेका लेते हैं। नीलम के मुताबिक राजेद्र ने कुछ दिन आरोपी कलीम अहमद के साथ साझे में काम किया है। कलीम ने खाद्य विभाग

लखनऊ से टेंडर दिलाने के लिए
सुनील गुर्जर उर्फ मोंटी गुर्जर के साथ कनॉट प्लेस में मीटिंग करवाई थी। दूसरी मीटिंग गोमती नगर में होटल में कार्रवाई। यहीं पर पत्रकार आशीष राय ही एनके कनौजिया बनकर मिला।

पढ़ें :- तुलसी की जड़ में हर रोज चढ़ाएं ये चीज, ऐसी चमकेगी किस्मत नहीं रहेगा कोई ठिकाना

विधानभवन में बनाया फर्जी दफ्तर
आरोपी आशीष राय ने इसमें भी पीड़ितों को विधानभवन में कई बड़ों से मिलाने का झांसा दिया था। आशीष इन लोगों ने कई बार विधानभवन के गेट नंबर सात पर एनके कनौजिया बनकर मुलाकात की। दो बार इन्हें विधानभवन के अंदर एक केबिन में ले गया। यहां एनके कनौजिया ने बताया कि वह खाद्य आपूर्ति विभाग का ज्वाइन्ट सेक्रेटरी है। उसने 120 करोड़ का नमक ठेका दिलाने के लिए पांच प्रतिशत एडवांस देने को कहा और बाकी पांच प्रतिशत भुगतान के बाद। पुलिस का कहना है कि आशीष रॉय ने होटल व अन्य खर्च के नाम पर भी दो लाख रुपए लिए थे। डील तय होने के बाद दिल्ली में हनुमान मंदिर के पास एक करोड़ रुपए भी ले लिए थे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...