तीन महीनों में 50 हजार फ्लैट्स का पजेशन देगी योगी सरकार: सुरेश खन्ना

लखनऊ। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में सालों से अपने आशियाने के लिए किश्ते भरने के बाद फ्लैट्स के पजेशन के लिए दर दर भटक रहे लोगों के लिए यूपी की योगी सरकार सामने आई है। सीएम योगी आदित्य नाथ ने पजेशन के लिए परेशान करीब 1 लाख होम बायर्स में 50 हजार को तीन माह के अंदर अपने मकान में कब्जा दिलाने के लिए एक एजेंसी बनाने को कहा है।

मुख्यमंत्री कार्यालय को नोएडा और ग्रेटर नोएडा में फ्लैट के लिए बुकिंग करा चुके लोगों की शिकायत मिली थी। जिसमें कहा गया कि सालों से किश्ते भरने के ​बाद भी बिल्डर उन्हें फ्लैटों का कब्जा नहीं दे रहे हैं।

{ यह भी पढ़ें:- बिल्डरों की मनमानी पर सख्त हुई योगी सरकार, फ्लैट ना देने पर होगी गिरफ्तारी }

इसी शिकायत को ध्यान में रखते हुए सीएम योगी ने बिल्डर्स के साथ मीटिंग बुलाई थी। ढाई घंटे चली इस मीटिंग में आम्रपाली, सुपरटेक, क्रेडाई के प्रतिनिधि, मंत्री सुरेश खन्ना, सुरेश राणा, सतीश महाना, मौजूद रहे। मंत्रियों और विधायकों के साथ एक बैठक में होम बायर्स की पेरशानी का हल निकालने के लिए सीएम योगी के साथ हुई बैठक से बाहर निकले निगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि मुख्यमंत्री ने फैसला किया है कि यमुना एक्सप्रेस वे, नोएडा और ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के अधिकारियों से बिल्डर्स से बातचीत करने को कहा जाएगा। तीनों अथॉरिटी मिलकर एक एजेंसी बनाएंगी जो तीन महीने के भीतर 50 हजार फ्लैट्स का निर्माण पूरा करवाकर खरीददारों को उनके फ्लैट्स का कब्जा दिलाया जाएगा।

इस काम के लिए बनाई जाने वाली एजेंसी दो महीनों के भीतर अपनी रिपोर्ट सरका को सौंपेगी। जिससे इस प्रक्रिया में आने वाली तकनीकी और कानूनी पेंचों को दूर करने के लिए सरकार को समय मिल सके।

{ यह भी पढ़ें:- ग्रेटर नोएडा में भाजपा नेता की दिन दहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या }

मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि मुख्यमंत्री के आदेश के बाद जो बिल्डर्स अब आवंटन समय पर नहीं करेंगे, सरकार उन पर कड़ी कार्रवाई करेगी। सरकार बिल्डर्स का ऑडिट भी करायेगी।

गौरतलब है कि नोएडा में लोगो ने सालों से अपनी कमाई घर बनाने के लिए दी है सरकार उनके साथ अन्याय नही होने देगी। सीएम ने बिल्डर्स को दिए निर्देश ‌दिए है कि कि पचास हजार मकानों का कब्जा अगले 3 महीने में दिया जाय। 50 हजार लोगों को भी उनका घर जल्द दिलाया जाएगा‌। जो बिल्डर्स इसमें सहयोग नही करेंगे उनके लिए सारे विकल्प खुले है। उनके खिलाफ आर्थिक और कानूनी रूप से एक्शन लिया जाएगा।

{ यह भी पढ़ें:- पार्किंग में तेज रफ्तार होंडा सिटी कार ने आठ महीने की प्रेगनेंट महिला को कुचला, मौत }

Loading...