जब बुलंदशहर हिंसा की आग में जल रहा था, सीएम योगी ने कर दिया ऐसा ट्वीट

cm-yogi-bulandshahar
जब बुलंदशहर हिंसा की आग में जल रहा था, सीएम योगी ने कर दिया ऐसा ट्वीट

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में हाल के दिनों दो बड़ी घटनाओं ने सूबे की कानून व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है। एक तरफ सीतापुर जिले में छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवती को जला दिया गया और दूसरी तरफ बुलंदशहर में गोकशी के शक में उग्र भीड़ ने पुलिस चौकी पर जमकर तांडव किया और इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या कर दी। इस घटना में एक स्थानीय नागरिक की भी मौत हो गयी। वहीं इन सब के बावजूद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दूसरे राज्यों में रैलियां करने में लगे हैं। अब सवाल है कि आखिर ऐसे क्या हालात क्यों बने, प्रशासन से कहां चूक हुई और मुख्यमंत्री इन हालात से कैसे निपट रहे थे?

Bulandshahr Violence And Up Cm Yogi Adityanaths Sound And Light Show :

बताते चलें कि जब बुलंदशहर हिंसा की आग में जल रहा था, उस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्विटर पर प्रदेश की जनता को कुछ ऐसा संदेश दिया। उन्होने लिखा, “आज गुरु श्री गोरखनाथ मंदिर, गोरखपुर परिसर स्थित भीम सरोवर पर छत्तीसगढ़ के माननीय मुख्यमंत्री आदरणीय डॉ. रमन सिंह जी के साथ लाइट एवं साउंड सिस्टम के माध्यम से महायोगी गोरक्षनाथ जी के जीवन पर आधारित शो को देखा।”


अब सवाल इस बात का उठता है कि जब बुलंदशहर में इतनी बड़ी घटना हो गयी तो मुख्यमंत्री ने अपने तयशुदा कार्यक्रम में बदलाव क्यों नहीं किया। क्या एक पुलिस इंस्पेक्टर का मारा जाना सूबे के लिए सीएम के लिए कोई बड़ी घटना नहीं थी?

कई राज्यों में की ताबड़तोड़ रैलियां-

यूपी का मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ भाजपा के स्टार प्रचारक की भूमिका में रहे हैं। देश के किसी भी राज्य में चुनाव होने पर उन्होने धुआंधार रैलियां की हैं। बीते कुछ हफ्ते से सीएम पांच राज्यों के चुनाव प्रचार में जमकर जुटे हुए हैं। कभी छत्तीसगढ़ तो कभी मध्य प्रदेश और अब राजस्थान और तेलंगाना में देखे जाते हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में हाल के दिनों दो बड़ी घटनाओं ने सूबे की कानून व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है। एक तरफ सीतापुर जिले में छेड़छाड़ का विरोध करने पर युवती को जला दिया गया और दूसरी तरफ बुलंदशहर में गोकशी के शक में उग्र भीड़ ने पुलिस चौकी पर जमकर तांडव किया और इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की हत्या कर दी। इस घटना में एक स्थानीय नागरिक की भी मौत हो गयी। वहीं इन सब के बावजूद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दूसरे राज्यों में रैलियां करने में लगे हैं। अब सवाल है कि आखिर ऐसे क्या हालात क्यों बने, प्रशासन से कहां चूक हुई और मुख्यमंत्री इन हालात से कैसे निपट रहे थे?बताते चलें कि जब बुलंदशहर हिंसा की आग में जल रहा था, उस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्विटर पर प्रदेश की जनता को कुछ ऐसा संदेश दिया। उन्होने लिखा, "आज गुरु श्री गोरखनाथ मंदिर, गोरखपुर परिसर स्थित भीम सरोवर पर छत्तीसगढ़ के माननीय मुख्यमंत्री आदरणीय डॉ. रमन सिंह जी के साथ लाइट एवं साउंड सिस्टम के माध्यम से महायोगी गोरक्षनाथ जी के जीवन पर आधारित शो को देखा।" अब सवाल इस बात का उठता है कि जब बुलंदशहर में इतनी बड़ी घटना हो गयी तो मुख्यमंत्री ने अपने तयशुदा कार्यक्रम में बदलाव क्यों नहीं किया। क्या एक पुलिस इंस्पेक्टर का मारा जाना सूबे के लिए सीएम के लिए कोई बड़ी घटना नहीं थी?

कई राज्यों में की ताबड़तोड़ रैलियां-

यूपी का मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी आदित्यनाथ भाजपा के स्टार प्रचारक की भूमिका में रहे हैं। देश के किसी भी राज्य में चुनाव होने पर उन्होने धुआंधार रैलियां की हैं। बीते कुछ हफ्ते से सीएम पांच राज्यों के चुनाव प्रचार में जमकर जुटे हुए हैं। कभी छत्तीसगढ़ तो कभी मध्य प्रदेश और अब राजस्थान और तेलंगाना में देखे जाते हैं।