1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. बुलंदशहर हिंसा: आरोपियों के जेल से छूटने पर फूल-मालाओं से किया गया स्वागत, जय श्री राम के लगे नारे

बुलंदशहर हिंसा: आरोपियों के जेल से छूटने पर फूल-मालाओं से किया गया स्वागत, जय श्री राम के लगे नारे

By रवि तिवारी 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में पिछले साल दिसंबर में हुई हिंसा एक बार फिर सुर्खियों में है। दरअसल, हिंसा मामले में जेल में बंद छह आरोपियों को जमानत के बाद शनिवार को रिहा किया गया। खास बात ये रही कि जेल से छूटने के बाद सभी छह आरोपियों को फूल-माला पहनाकर स्वागत किया गया। इस दौरान भारत माता की जय, जय श्री राम और वंदे मातरम् के नारे लगाए गए। बुलंदशहर हिंसा में एक पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

बता दें कि पिछले साल तीन दिसंबर को स्याना के चिंगरावटी गांव में गौकशी की अफवाह के बाद हिंसा भड़क गई थी। इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस दौरान पूरे गांव में जमकर आगजनी और बलवा हुआ था। बदमाशों ने सरकारी वाहन और पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया था। इस मामले में यूपी पुलिस ने मामला दर्ज कर 38 लोगों को जेल भेजा था। 38 में से 6 आरोपी साढ़े सात महीने के बाद जेल से जमानत पर रिहा होकर शनिवार को बाहर निकले थे।

सरकार और भाजपा का लेना-देना नही : केशव

उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बुलंदशहर हिंसा के आरोपितों के जेल से रिहा होने पर स्वागत के संबंध में कहा कि इसका न तो सरकार से कोई लेना-देना है और न पार्टी से। विपक्ष को इस मुद्दे को राई का पहाड़ नहीं बनाना चाहिए। उन्होंने कहा यदि किसी आरोपित के समर्थक जेल से उसके बाहर आने पर स्वागत करते हैं तो इसमें सरकार क्या कर सरकती है। विपक्ष इस बात को बेवजह तूल न दे।

पिछले साल दिसंबर में हुई थी बुलंदशहर हिंसा

तीन दिसंबर, 2018 को बुलंदशहर में स्याना के चिगरावठी में गोकशी के बाद हिंसा भड़क गई थी। हिंसा के दौरान सुबोध कुमार और सुमित कुमार की मौत हो गई थी। एसआइ सुभाष चंद्र ने 27 नामजद और 50- 60 अज्ञात के खिलाफ स्याना कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जेल में बंद सातों आरोपितों को हाल ही में हाइ कोर्ट से जमानत मिल गई है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...