1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. कश्मीर के 40 हजार सैनिकों को भेजी गयीं बुलेटप्रूफ जैकेट, झेल सकती हैं एके-47 की फायरिंग

कश्मीर के 40 हजार सैनिकों को भेजी गयीं बुलेटप्रूफ जैकेट, झेल सकती हैं एके-47 की फायरिंग

नई दिल्ली। कश्मीर में तैनात 40 हजार सैनिको को पहली बार देश में बनी बुलेटप्रूफ जैकेट भेजी गयी हैं। यह जैकेट जम्मू कश्मीर में चल रहे आतंकी आपरेशन में लगे सैनिको को दी जा रही हैं। इस जैकेट की खास बात यह है कि ये जैकेट एके-47 की फायरिंग भी आसानी से झेल सकती हैं। अपको बता दें कि रक्षा मंत्रालय ने पिछले साल एक निजी कंपनी को 1.86 लाख बुलेटप्रूफ जैकेट बनाने का आर्डर दिया था।

ये जैकेट एसएमपीपी प्राइवेट लिमिटेड के द्वारा बनवाई गयी हैं, कम्पनी की तरफ से मेजर जनरल अनिल ओबेरॉय ने बताया कि रक्षामंत्रालय द्वारा सारी जैकेट तैयार करने के लिए 2021 तक का वक्त दिया गया है लेकिन कम्पनी सारी जैकेट 2020 तक ही पूरा कर लेगी। उन्होने बताया कि 2019 में 36 हजार जैकेट तैयार करने के लिए कहा गया था लेकिन कम्पनी ने 40 हजार जैकेट तैयार करके भेज दी हैं।

मोदी सरकार ने शुरूवात से ही मेक इन ​इंडिया के तहत सेना को आधुनिक बनाने का दावा किया था। इसी के चलते सेना को आधुनिक और हल्की बुलेटप्रूफ जैकेट मुहैया कराने को लेकर एसएमपीपी को 639 करोड़ में 1.86 लाख जैकेट बनाने का टेंडर दिया गया था। पहली बार देश् में बनी इन जैकेट को कानपुर स्थित सेंट्रल ऑर्डिनेंस डिपो पहुंचा दिया गया है।

जैकेट की खास बात यह है कि एके-47 और कई अन्य हथियार इस पर बेअसर होंगे। बताया गया कि यह जैकेट जवानों के शरीर को 360 डिग्री सुरक्षा देगी और इसे युद्ध और आतंकवाद निरोधक ऑपरेशन में भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। ये जैकेट बोरॉन कार्बाइड सेरेमिक से तैयार की गयी हैं इसमें हल्का और बेहतरीन मैटेरियल इस्तेमाल किया गया है। ये मॉड्यूलर पार्ट्स बनी है जिसकी वजह से ये काफी लचीली हैं और पहनने में आसान भी हैं। आपको बता दें कि कुछ दिनो पहले ही सेना प्रमुख बिपिन रावत ने भी दुश्मनों से निपटने के लिए सेना के आधुनिकीकरण और स्वदेशी तकनीक के इस्तेमाल की मांग की थी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...