यूपी में जमीन कब्जाई तो लगेगा गैंगेस्टर

लखनऊ। यूपी की योगी सरकार ने अवैध तरीके से भूमि कब्जा करने वालों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई करने का कानून बनाया है। सरकार को भरोसा है कि इस नए कानून से सूबे में अवैध जमीन कब्जे करने वाले माफियाओं पर नकेल कसी जा सकेगी। इसे बीजेपी सरकार की उन दावों को लेकर की जा रही पहलों में से एक माना जा रहा है जिन्हें विधानसभा चुनाव के लिए जारी किए गए संकल्प पत्र में जगह दी गई थी।




बीजेपी ने अपने संकल्प पत्र में एंटी भूमाफिया टास्क फोर्स के गठन की बात कही थी। जिस दिशा में यूपी सरकार आगे बढ़ती नजर आ रही है। यूपी की कानून व्यवस्था को खराब करने में बहुत बड़ा हाथ भू​माफियाओं का भी है। जो विवादित और मंहगी जमीनों को हथियाने के लिए गैरकानूनी हथकंडे अपनाते हैं और डर के दम पर अपना कारोबार करते हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शपथ ग्रहण के बाद सार्वजनिक मंच से भूमाफियाओं को सुधरने की चेतावनी दी थी। गोरखपुर में एक कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी ने कहा था कि गुंडे और माफिया या तो सुधर जाएं या फिर प्रदेश छोड़ दें।




यूपी बीजेपी के प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने नए कानून का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेश में लम्बे समय से भू-माफिया फल-फूल रहे थे, जिन्हें सरकारों का संरक्षण मिला हुआ था, लेकिन योगी सरकार गैरकानूनी व्यवस्थाओं को प्रदेश में चलाने की इजाजत नहीं देगी। जिसका सीधा स्पष्ट सन्देश इस कानून को बनाकर दिया गया है। भू-माफियाओ पर नकेल कसने की तैयारी सरकार गठन के साथ ही शुरू हो गई थी। इस संदर्भ में प्रमुख एवं डीजीपी ने अफसरों को दो टूक हिदायत दी है। सरकार का स्पष्ट निर्देश है कि गैरकानूनी धंधों में लिप्त लोग कितने भी रसूखदार, शातिर और पेशेवर क्यों न हों, सभी को भूमाफिया के रूप में चिन्हित कर सख्त से सख्त कार्यवाही की जाय। अब जिला प्रशासन भूमाफियाओं पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई कर सकेंगे।