आगर मे 34 यात्रियों से भरी बस हाईजैक, बदमाशों ने ड्राइवर और कंडक्टर को किया बाहर

bus

आगरा: आज सुबह सुबह ताज नागरी आगरा से एक ऐसा किस्सा सामने आया जिसने आम शख्स को नहीं बल्कि पुलिस की टीम को भी चौका दिया, आपको बता दें, सुबह आगरा मे हथियारबंद बदमाशों ने एक बस को हाइजैक कर लिया। बस में 34 यात्रियों के सवार होने की सूचना है।

Bus Hijack Filled With 34 Passengers In Agar Miscreants Drive Out Driver And Conductor :

आपको बता दें, एक प्राइवेट बस गुरुग्राम से मध्यप्रदेश जा रही थी और बदमाशों ने बस को हाईजैक कर ड्राइवर व कंडक्टर को उतार दिया है। इसके अलावा 34 यात्रियों भरी बस को किसी अज्ञात जगह ले गए हैं।

घटना बुधवार तड़के की बताई जा रही है। बदमाशों ने थाना मलपुरा इलाके में इस घटना को अंजाम दिया है। पुलिस को ड्राइवर और कंडक्टर ने सूचना दी जिसके बाद से मौके पर तमाम आला अधिकारी मौजूद हैं।

पुलिस का सामने आया बयान 

खबर सामने आने के बाद पुलिस ने बयान जारी करते हुए कहा कि, बस के मालिक ने किश्त नहीं चुकाया था। इस पर फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियों ने कंडक्टर और बदमाश को उतार दिया और बस को लेकर चले गए। पुलिस के मुताबिक, ये सूचना ड्राइवर और कंडक्टर ने दी है।

उन्होंने बताया कि चार लोग थे उन्होंने खुद को फाइनेंस कंपनी का कर्मचारी बताया। पर पुलिस इस बात की पुष्टि नहीं कर पाई कि वह बदमाश हैं या कंपनी के कर्मचारी।

आगरा: आज सुबह सुबह ताज नागरी आगरा से एक ऐसा किस्सा सामने आया जिसने आम शख्स को नहीं बल्कि पुलिस की टीम को भी चौका दिया, आपको बता दें, सुबह आगरा मे हथियारबंद बदमाशों ने एक बस को हाइजैक कर लिया। बस में 34 यात्रियों के सवार होने की सूचना है। आपको बता दें, एक प्राइवेट बस गुरुग्राम से मध्यप्रदेश जा रही थी और बदमाशों ने बस को हाईजैक कर ड्राइवर व कंडक्टर को उतार दिया है। इसके अलावा 34 यात्रियों भरी बस को किसी अज्ञात जगह ले गए हैं। घटना बुधवार तड़के की बताई जा रही है। बदमाशों ने थाना मलपुरा इलाके में इस घटना को अंजाम दिया है। पुलिस को ड्राइवर और कंडक्टर ने सूचना दी जिसके बाद से मौके पर तमाम आला अधिकारी मौजूद हैं।

पुलिस का सामने आया बयान 

खबर सामने आने के बाद पुलिस ने बयान जारी करते हुए कहा कि, बस के मालिक ने किश्त नहीं चुकाया था। इस पर फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियों ने कंडक्टर और बदमाश को उतार दिया और बस को लेकर चले गए। पुलिस के मुताबिक, ये सूचना ड्राइवर और कंडक्टर ने दी है। उन्होंने बताया कि चार लोग थे उन्होंने खुद को फाइनेंस कंपनी का कर्मचारी बताया। पर पुलिस इस बात की पुष्टि नहीं कर पाई कि वह बदमाश हैं या कंपनी के कर्मचारी।