1. हिन्दी समाचार
  2. बस पॉलिटिक्स: UP के डिप्टी CM दिनेश शर्मा का सचिन पायलट को करार जवाब

बस पॉलिटिक्स: UP के डिप्टी CM दिनेश शर्मा का सचिन पायलट को करार जवाब

Bus Politics Up Deputy Cm Dinesh Sharmas Reply To Sachin Pilot

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बस सियासत पर कांग्रेस ओर योगी सरकार के बीच तनाव बढ़ता चला जा रहा है। योगी सरकार ने जेसे ही राजस्थान सरकार का कोटा के बच्चों से किराया लेने वाला बयान जारी किया तभी से राजस्थान सरकार और योगी सरकार के बीच बयानबाजी का दौर चल रहा है। बता दें यूपी सरकार ने बिल का भुगतान कर दिया है लेकिन साथ ही बीजेपी की तरफ से कांग्रेस पर हमला किया जा रहा है. उधर राजस्थान सरकार के डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने मोर्चा संभाला और बीजेपी और केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है. अब यूपी के डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा और परिवहन मंत्री अशोक कटारिया ने जवाब हमला किया है.

पढ़ें :- इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, इनको मिली जगह

बता दें सचिन पायलट ने यूपी से श्रमिकों की वापसी और बस के मुद्दे को लेकर यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार को जमकर घेरा. परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके कहा था कि प्रियंका गांधी बसें भेजेंगी तो अनुमति दे दूंगा. लेकिन बसें भेजने के बाद 1032 बसों को बॉर्डर पर रोक लिया.

प्रेस कांफ्रेंस में डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि कोटा के विद्यार्थियों को मंगाने के लिए हमने 560 बसें भेजीं. वहां अनुमान से अधिक बच्चे थे, जिसके चलते राजस्थान सरकार से बसें ली गईं. राजस्थान सरकार ने 94 बसों के किराया के लिए रिमांडर भेजा. कोरोना की लड़ाई में कांग्रेस राजनीति कर रही है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों के साथ दोयम दर्जे का व्यवहार किया जा रहा है. वहां की चिंता न करके, जहां 27000 बसें लगी हैं, वहां की चिंता कर रहे हैं. डिप्टी सीएम ने कहा कि हम श्रमिकों को रोजगार देंगे, उन्हें याची नहीं बनने देंगे.

डिप्टी सीएम ने कहा कि राजस्थान के डिप्टी सीएम ने अनर्गल आरोप लगाया. बसों के ड्राइवरों को भोजन तक नहीं कराया गया. बसों से वसूली की गई. कांग्रेस अपनी गिरेबान में झांके. इन्हें यूपी के श्रमिकों से माफी मांगनी चाहिए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के लोगों को दिग्भ्रमित करने का काम किया है. इस प्रकार का कृत्य अक्षम्य है.

वहीं यूपी के परिवहन अशोक कटारिया ने कहा कि 36 लाख 36 हजार रुपये का भुगतान हमने किया. डीजल का पेमेंट 19 लाख रुपये किया. ये लोग पैसा वसूल रहे हैं. ये लोग सेवा की नौटंकी बंद करें. कांग्रेस हिंदुस्तान के मजदूरों को गुमराह कर रही है. कांग्रेस भारत के भविष्य से कांग्रेस पैसा वसूलती है. उन्होंने कहा कि यूपी सरकार की 12000 बसें हैं और हर जिले में 200 प्राइवेट बसों का इंतजाम किया गया है

पढ़ें :- कुर्की के आदेश के बाद नसीमुद्दीन और रामअचल राजभर ने कोर्ट में किया सरेंडर, भेजे गए जेल

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...