पत्नी की वजह से बिजनेसमैन ने जला दिए सात करोड़ रुपये, मिली 30 दिन की सजा

canada
पत्नी की वजह से बिजनेसमैन ने जला दिए सात करोड़ रुपये, मिली 30 दिन की सजा

नई दिल्ली। एक पति अपनी पत्नी की प्रताड़ना से इतना परेशान था कि उसने पत्नी को तलाक दे दिया। यहीं नहीं, तलाक के बाद पत्नी को पैसे ना देने पड़े इसके लिए पति ने 10 लाख डॉलर (करीब सात करोड़ रुपये) को आग लगा दी। ब्रूस मेककॉनविले (55) ने अदालत में यह बात स्वीकार की है। यह रकम उसने पिछले साल सितंबर और दिसंबर में जलाई, हालांकि इसके कोई सुबूत नहीं हैं। उसने अदालत में निकाली गई रकम की रसीदें जरूर दिखाई हैं।    

Businessman Burnt Seven Crores Rupees Due To Wife Got 30 Days Punishment :

अदालत की अवमानना में उसे 30 दिन की सजा सुनाई गई है। ब्रूस ने अदालत को बताया कि वह पत्नी की तलाक प्रक्रिया से चिढ़ गया था, इसी वजह से पैसे जला दिए। इस पर जज केविन फिलिप ने उसे फटकार भी लगाई। केविन ने कहा चिढ़ निकालने के लिए न सिर्फ तुमने अदालत का मजाक बनाया है, बल्कि अपने बच्चों के हितों की अनदेखी की है। एजेंसी

हर रोज डेढ़ लाख रुपये का जुर्माना

अदालत को अपनी पूरी संपत्ति की जानकारी न देने के आरोप में जज केविन ने ब्रूस को हर रोज करीब डेढ़ लाख रुपये (2 हजार डॉलर) का जुर्माना देने को भी कहा। दरअसल, संपत्ति की जानकारी अदालत को न देने के चलते जज तलाक के बाद ब्रूस द्वारा पत्नी व बच्चों को दी जाने वाली रकम तय नहीं कर पा रहे थे।  

नई दिल्ली। एक पति अपनी पत्नी की प्रताड़ना से इतना परेशान था कि उसने पत्नी को तलाक दे दिया। यहीं नहीं, तलाक के बाद पत्नी को पैसे ना देने पड़े इसके लिए पति ने 10 लाख डॉलर (करीब सात करोड़ रुपये) को आग लगा दी। ब्रूस मेककॉनविले (55) ने अदालत में यह बात स्वीकार की है। यह रकम उसने पिछले साल सितंबर और दिसंबर में जलाई, हालांकि इसके कोई सुबूत नहीं हैं। उसने अदालत में निकाली गई रकम की रसीदें जरूर दिखाई हैं।     अदालत की अवमानना में उसे 30 दिन की सजा सुनाई गई है। ब्रूस ने अदालत को बताया कि वह पत्नी की तलाक प्रक्रिया से चिढ़ गया था, इसी वजह से पैसे जला दिए। इस पर जज केविन फिलिप ने उसे फटकार भी लगाई। केविन ने कहा चिढ़ निकालने के लिए न सिर्फ तुमने अदालत का मजाक बनाया है, बल्कि अपने बच्चों के हितों की अनदेखी की है। एजेंसी हर रोज डेढ़ लाख रुपये का जुर्माना अदालत को अपनी पूरी संपत्ति की जानकारी न देने के आरोप में जज केविन ने ब्रूस को हर रोज करीब डेढ़ लाख रुपये (2 हजार डॉलर) का जुर्माना देने को भी कहा। दरअसल, संपत्ति की जानकारी अदालत को न देने के चलते जज तलाक के बाद ब्रूस द्वारा पत्नी व बच्चों को दी जाने वाली रकम तय नहीं कर पा रहे थे।