HBE Ads
  1. हिन्दी समाचार
  2. जीवन मंत्रा
  3. ये 4 योगासन और प्राणायाम कर कोविड-19 से जल्‍द जंग जीतेंगे आप

ये 4 योगासन और प्राणायाम कर कोविड-19 से जल्‍द जंग जीतेंगे आप

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर कहर बरपा रही है। ऐसे में जो लोग कोरोना से रिकवर हो रहे हैं, उन्हें सही खानपान और योग करने की सलाह दी जा रही है। कोविड-19 से रिकवरी में योग काफी सहायक रहा है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर कहर बरपा रही है। ऐसे में जो लोग कोरोना से रिकवर हो रहे हैं, उन्हें सही खानपान और योग करने की सलाह दी जा रही है। कोविड-19 से रिकवरी में योग काफी सहायक रहा है।

पढ़ें :- फाइबर, कैल्शियम और कार्बोहाइड्रेट, आयरन, प्रोटीन जैसे कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है राजमा, खाने के होते हैं ये फायदे

इसलिए, हम आपको कुछ ऐसे योगासन बता रहे हैं, जो आपको कोरोना से जल्दी रिकवर होने में मदद करंगे। मगर इन योगाभ्‍यास को सिर्फ वही लोग करें, जिनमें माइल्ड यानी बेहद हल्के लक्षण हैं। वह भी सिर्फ तीन दिन की अवधि के भीतर। हम आपको यही सलाह देंगे कि चिकित्सीय सलाह के बाद ही आगे बढ़ें।

प्राणायाम

ये फेफड़ों की क्षमता में सुधार करने, प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के साथ-साथ आपकी श्वास को विनियमित करके नसों को शांत करने के लिए सबसे अच्छे व्यायामों में से एक है। इसे खाली पेट सुबह – सुबह ही करना चाहिए ताकि शरीर में ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन पहुंच सके।

प्राणायाम करने के लिए

पढ़ें :- Tongue cleaning: ओरल हेल्थ के लिए जरुरी हैं दातों के साथ साथ जीभ की सफाई करना

एक क्रॉस-लेग की स्थिति में बैठकर या घुटनों के बल जमीन पर बैठ जाएं। कूल्हों और कंधों के ऊपर सिर के ऊपर कंधे, अपने शरीर को थोड़ा बढ़ाएं। अब, एक गहरी साँस लें जो रीढ़ तक फैले और फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ें। कम से कम 10 बार सांस लें और इस स्थिति में रहें।

अनुलोम -विलोम

शरीर में ऑक्सीजन लेवल सुधारने के लिए हमें अनुलोम विलोम करना चाहिए। साथ ही अनुलोम विलोम से टेंशन भी दूर होती है और आप पूरे दिन ऊर्जावान महसूस करेंगे।

अनुलोम -विलोम करने के लिए

फर्श पर सीधे बैठ जाएं, अब नाक के एक नथुने को दबाकर दूसरे नथुने से सांस छोडें, फिर जिससे सांस छोड़ी है उसी से वापस सांस लें। इस तरह दोनों तरफ यही प्रक्रिया को दोहराएं। साथ ही, यह करने के लिए अपने अंगूठे और अनामिका ऊँगली का इस्तेमाल करें।

पढ़ें :- Benefits of Kaner flower: खूबसूरत पीले कनेर के फूल स्किन के साथ साथ सेहत के लिए भी होते हैं फायदेमंद

कपालभाति

अगर आपको कोरोना के थोड़े ही लक्षण हैं तो आपको हल्की-हल्की तरह से कपालभाति प्राणायाम भी करना चाहिए। इससे आपका ऑक्सीजन लेवल बढेगा और फेफड़ों की क्षमता भी बढ़ेगी।

कपालभाति करने के लिए

इसके लिए सबसे सीधे बैठ जाएं और पहले लंबी गहरी सांस अंदर लें। अब धीरे-धीरे सांस को बाहर छोड़ते जाएं। हालांकि कोरोना के मरीजों को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि सांस छोड़ते वक्त उन्हें किसी तरह का दबाव महसूस न हो।

मकरासन यानी प्रोन ब्रीदिंग

मकरासन आपके ऑक्सीजन लेवल को बढाने के लिए 70 फीसदी तक कारगर है और इस समय कई लोग इसे अपना रहे हैं। ऐसा माना जाता है कि गंभीर स्थिति में भी इसे करने पर फेफड़ों में दबाव को कम करता है। हठ योग में, यह प्राणायाम के लिए फेफड़ों को प्रशिक्षित करने के लिए एक अच्छी स्थिति माना जाता है।

पढ़ें :- Side effects of eating too much salt: जरुरत से ज्यादा नमक खाने से होते हैं सेहत को कई नुकसान

मकरासन करने के लिए

सबसे पहले पेट के बल लेट जायें फिर सिर और कंधों को ऊपर उठाएं और ठोड़ी को हथेलियों पर और कोहनियों को ज़मीन पर टिका लें। अब कोहनियों को एक साथ रखें। उत्तम जगह वह है जहां आपको पीठ और गर्दन में पूरी तरह से आराम महसूस हो। अब गहरी सांसें लें शुरू करें, आप 5-10 मिनट के लिए रोजाना खाली पेट इसका अभ्यास कर सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...