ऑफिस में इन कामों को करने से आपकी सैलरी हो सकती है डबल

office enviroment
ऑफिस में इन कामों को करने से आपकी सैलरी हो सकती है डबल

लखनऊ। अक्सर आपने देखा होगा कि ऑफिस में लोग आगे बढ्ने के लिए या फिर नौकरी बचाए रखने के लिए बॉस की नज़रों में अच्छा बनने की कोशिश करते हैं। इसके लिए लोग क्या-क्या नहीं करते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि आप जो तरीके अपना रहे हैं वे सही हैं भी या नहीं? अगर आपने नई-नई नौकरी जॉइन की है तो ऑफिस में सबकी नजर आप पर गढ़ी रहती हैं। ऐसे में आपको बहुत सावधानी बरतने की ज़रूरत होती है क्योंकि आपकी एक भी गलती आपकी छवि को खराब कर सकती हैं। ऐसे में अच्छा काम और स्वभाव होने के साथ-साथ भी कई चीजें जरूरी हैं जो अगर आप अपनाएंगे तो ऑफिस में बॉस के साथ साथ साथियों के भी चहेते बन जाएंगे। आइये जानते हैं हम ऐसा क्या करें जिससे हम सबकी नज़रों में अच्छा बन सकें।

By Doing These Things In The Office Your Salary Can Be Double :

‘फर्स्ट इंप्रेशन इज द लास्ट इंप्रेशन’: 

कहते हैं ‘फर्स्ट इंप्रेशन इज द लास्ट इंप्रेशन’ पहली नजर में अगर किसी को जज करना है तो हम सबसे पहले उसका पहनावा और हाव-भाव देखते हैं। प्रोफेशनल जगहों पर आपको इन्हीं आधार पर जाज किया जाता है। ऐसे में आपको चाहिए कि पहनावा फॉर्मल रखें क्योंकि क्या पता कब आपको बॉस या किसी सीनियर व्यक्ति से मिलने के लिए भेजा दिया जाए।

साथियों से बनाए अच्छा मेल-जोल: 

हमें अपने साथियों के साथ अक्सर घुलने-मिलने में समय लग जाता है। ऐसे में हमें चाहिए कि जल्द से जल्द हम अपने साथियों के साथ अपना मेल-जोल बना लें। साथ ही उनके नाम भी याद कर लें और उनके नाम से उन्हें बुलाए। ईशारों में या फिर किसी और तरीके से बुलाने में उन्हें बुरा लग सकता है।

साथियों से मदद मांगने में ना करें हिचकिचाहट: 

अगर आप ऑफिस में नए हैं तो ज़ाहिर है आपकी बहुत सारी चीज़ें नहीं पता होगी ऐसे में आपअपने साथियों से मदद मांगने में हिचकिचाइए मत। साथ ही अगर आपको चीजें याद रखने में परेशानी होती है तो संस्था के बारे में नियम कानून और तौर तरीकों को लिख लेने में भी हर्ज नहीं है। एक ही चीज को बार बार पूछेंगे तो सामने वाला भी झुंझला जाएगा।

गलती होने पर एक-दूसरे का सपोर्ट करें:

अब आप उस ऑफिस का हिस्सा बन चूकें हैं तो ज़रूरी है कि आप अपने साथियों के साथ मिलजुल कर काम करें। अपनी टीम की तरफ ईमानदार रहें और तारीफ मिलने पर उन्हें शुक्रिया कहना न भूलें। सबसे जरूरी बात किसी भी बात अगर किसी से भी कोई गलती है तो किसी एक को उसका जिम्मेदार न ठहराएं। क्योंकि ऐसे में वो अगर आपसे कभी कोई गलती है तो आपके साथी आपका सपोर्ट करेंगे।

खुद से काम कि करें पहल: 

शुरुआती दिनों में आपको काम कम ही दिया जाएगा, लेकिन काम जल्दी खत्म हो जाने पर खाली ना बैठे बल्कि खुद से कोई दूसरा काम करने की पहल करें और काम मांगें। साथ ही इस बात का भी ख्याल रखें कि शुरुआती दिनों में ऑफिस सही समय पर पहुंचें। समय सीमा से कुछ देर और रुकने में कोई हर्ज नहीं है।

परपंच और पॉलिटिक्स से रहें दूर: 

ऑफिस में अक्सर लोग परपंची और पॉलिटिक्स तरह के लोग भी होते हैं। ऐसे में आप इन लोगों से दूर रहें तो ही बेहतर है। कोशिश करें ऑफिस के समय अपना निजी काम न करें। ध्यान केंद्रित रखें। किसी चर्चा के दौरान आगे आगे बोलने से बेहतर है दूसरे की भी सुनें। हर चीज में अपनी राय देने से फायदा नहीं है।

बॉस को अपना वर्क रिकॉर्ड दिखते रहें: 

अपने बॉस को अपने काम से जुड़ी हर चीज की जानकारी देते रहें। खासकर शुरुआती दिनों में समय-समय पर अपने बॉस से मिलते रहें जिससे आप दोनों के बीच अच्छा रिश्ता बना रहें। इसके साथ अपने काम का रिकॉर्ड रखें और उसे सुधारने की कोशिश करते रहें। अपने अंदर आत्म विश्वास की कमी कभी न होने दें। यही चीज है जो आपको आगे तक ले जाएगी।

लखनऊ। अक्सर आपने देखा होगा कि ऑफिस में लोग आगे बढ्ने के लिए या फिर नौकरी बचाए रखने के लिए बॉस की नज़रों में अच्छा बनने की कोशिश करते हैं। इसके लिए लोग क्या-क्या नहीं करते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि आप जो तरीके अपना रहे हैं वे सही हैं भी या नहीं? अगर आपने नई-नई नौकरी जॉइन की है तो ऑफिस में सबकी नजर आप पर गढ़ी रहती हैं। ऐसे में आपको बहुत सावधानी बरतने की ज़रूरत होती है क्योंकि आपकी एक भी गलती आपकी छवि को खराब कर सकती हैं। ऐसे में अच्छा काम और स्वभाव होने के साथ-साथ भी कई चीजें जरूरी हैं जो अगर आप अपनाएंगे तो ऑफिस में बॉस के साथ साथ साथियों के भी चहेते बन जाएंगे। आइये जानते हैं हम ऐसा क्या करें जिससे हम सबकी नज़रों में अच्छा बन सकें। 'फर्स्ट इंप्रेशन इज द लास्ट इंप्रेशन':  कहते हैं 'फर्स्ट इंप्रेशन इज द लास्ट इंप्रेशन' पहली नजर में अगर किसी को जज करना है तो हम सबसे पहले उसका पहनावा और हाव-भाव देखते हैं। प्रोफेशनल जगहों पर आपको इन्हीं आधार पर जाज किया जाता है। ऐसे में आपको चाहिए कि पहनावा फॉर्मल रखें क्योंकि क्या पता कब आपको बॉस या किसी सीनियर व्यक्ति से मिलने के लिए भेजा दिया जाए। साथियों से बनाए अच्छा मेल-जोल:  हमें अपने साथियों के साथ अक्सर घुलने-मिलने में समय लग जाता है। ऐसे में हमें चाहिए कि जल्द से जल्द हम अपने साथियों के साथ अपना मेल-जोल बना लें। साथ ही उनके नाम भी याद कर लें और उनके नाम से उन्हें बुलाए। ईशारों में या फिर किसी और तरीके से बुलाने में उन्हें बुरा लग सकता है। साथियों से मदद मांगने में ना करें हिचकिचाहट:  अगर आप ऑफिस में नए हैं तो ज़ाहिर है आपकी बहुत सारी चीज़ें नहीं पता होगी ऐसे में आपअपने साथियों से मदद मांगने में हिचकिचाइए मत। साथ ही अगर आपको चीजें याद रखने में परेशानी होती है तो संस्था के बारे में नियम कानून और तौर तरीकों को लिख लेने में भी हर्ज नहीं है। एक ही चीज को बार बार पूछेंगे तो सामने वाला भी झुंझला जाएगा। गलती होने पर एक-दूसरे का सपोर्ट करें: अब आप उस ऑफिस का हिस्सा बन चूकें हैं तो ज़रूरी है कि आप अपने साथियों के साथ मिलजुल कर काम करें। अपनी टीम की तरफ ईमानदार रहें और तारीफ मिलने पर उन्हें शुक्रिया कहना न भूलें। सबसे जरूरी बात किसी भी बात अगर किसी से भी कोई गलती है तो किसी एक को उसका जिम्मेदार न ठहराएं। क्योंकि ऐसे में वो अगर आपसे कभी कोई गलती है तो आपके साथी आपका सपोर्ट करेंगे। खुद से काम कि करें पहल:  शुरुआती दिनों में आपको काम कम ही दिया जाएगा, लेकिन काम जल्दी खत्म हो जाने पर खाली ना बैठे बल्कि खुद से कोई दूसरा काम करने की पहल करें और काम मांगें। साथ ही इस बात का भी ख्याल रखें कि शुरुआती दिनों में ऑफिस सही समय पर पहुंचें। समय सीमा से कुछ देर और रुकने में कोई हर्ज नहीं है। परपंच और पॉलिटिक्स से रहें दूर:  ऑफिस में अक्सर लोग परपंची और पॉलिटिक्स तरह के लोग भी होते हैं। ऐसे में आप इन लोगों से दूर रहें तो ही बेहतर है। कोशिश करें ऑफिस के समय अपना निजी काम न करें। ध्यान केंद्रित रखें। किसी चर्चा के दौरान आगे आगे बोलने से बेहतर है दूसरे की भी सुनें। हर चीज में अपनी राय देने से फायदा नहीं है। बॉस को अपना वर्क रिकॉर्ड दिखते रहें:  अपने बॉस को अपने काम से जुड़ी हर चीज की जानकारी देते रहें। खासकर शुरुआती दिनों में समय-समय पर अपने बॉस से मिलते रहें जिससे आप दोनों के बीच अच्छा रिश्ता बना रहें। इसके साथ अपने काम का रिकॉर्ड रखें और उसे सुधारने की कोशिश करते रहें। अपने अंदर आत्म विश्वास की कमी कभी न होने दें। यही चीज है जो आपको आगे तक ले जाएगी।