यूपी की 11 सीटों पर 21 को होगा उपचुनाव, बीजेपी प्रत्याशियों का ऐलान बाकी

up election
यूपी की 11 सीटों पर 21 को होगा उपचुनाव, बीजेपी प्रत्याशियों का ऐलान बाकी

लखनऊ। यूपी की 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए अधिसूचना जारी हो गई है। चुनाव आयोग के कार्यक्रम के अुनसार इन 11 सीटों पर 21 अक्टूबर को मतदान होगा और 24 अक्टूबर को मतगणना की होगी।

Bypolls Will Be Held On 21 Seats Of Up :

उपचुनाव के लिए कई सीटों पर कांग्रेस, सपा व बसपा ने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है जबकि भाजपा ने अभी तक अपने प्रत्याशियों का ऐलान नहीं किया है। माना जा रहा है कि दावेदारों की अधिकता के चलते भाजपा ने अभी तक प्रत्याशी नहीं घोषित किए हैं। इन चुनाव के लिए सपा, बसपा, भाजपा व कांग्रेस किसी दल ने गठबंधन नहीं किया है। अधिसूचना घोषित होने के बाद चुनाव वाले जिलों में आचार संहिता लागू कर दी गई है। जिसके बाद अब तबादले चुनाव आयोग की मंजूरी के बाद ही किए जाएंगे।

इन सीटों के लिए भले ही बसपा ने सभी, कांग्रेस ने ज्यादातर और सपा ने कुछ सीटों के प्रत्याशी घोषित कर दिए हों पर भाजपा ने अब तक प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं की है।हालांकि उम्मीदवारों के नामों को लेकर पार्टी रणनीतिकारों ने दो दौर का विचार-विमर्श पूरा कर लिया है। बताया जा रहा है कि उपचुनाव वाली हर सीट पर कई-कई दावेदारों ने टिकट के लिए दावा ठोक दिया है। जानकारी के मुताबिक, बाराबंकी के जैदपुर में 28, लखनऊ के कैंट में 25, टूंडला में 20 दावेदारों ने दावा ठोक रखा है। कहीं-कहीं इनसे भी ज्यादा लोग टिकट मांग रहे हैं।दिलचस्प तो यह है कि लोकसभा चुनाव में जिन सांसदों का टिकट कट गया था, वह भी विधायक बनने के लिए जोर लगा रहे हैं।

यूपी की इन 11 सीटों पर होंगे उपचुनाव
गंगोह (सहारनपुर), रामपुर सदर (रामपुर), इगलास (अलीगढ़), गोविंद नगर (कानपुर नगर), लखनऊ कैंट (लखनऊ), मानिकपुर (चित्रकूट), प्रतापगढ़ सदर (प्रतापगढ़), जैदपुर (बाराबंकी), जलालपुर (अंबेडकरनगर), बलहा (बहराइच) और घोसी (मऊ) सीटों पर उपचुनाव होने हैं।

लखनऊ। यूपी की 11 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए अधिसूचना जारी हो गई है। चुनाव आयोग के कार्यक्रम के अुनसार इन 11 सीटों पर 21 अक्टूबर को मतदान होगा और 24 अक्टूबर को मतगणना की होगी। उपचुनाव के लिए कई सीटों पर कांग्रेस, सपा व बसपा ने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है जबकि भाजपा ने अभी तक अपने प्रत्याशियों का ऐलान नहीं किया है। माना जा रहा है कि दावेदारों की अधिकता के चलते भाजपा ने अभी तक प्रत्याशी नहीं घोषित किए हैं। इन चुनाव के लिए सपा, बसपा, भाजपा व कांग्रेस किसी दल ने गठबंधन नहीं किया है। अधिसूचना घोषित होने के बाद चुनाव वाले जिलों में आचार संहिता लागू कर दी गई है। जिसके बाद अब तबादले चुनाव आयोग की मंजूरी के बाद ही किए जाएंगे। इन सीटों के लिए भले ही बसपा ने सभी, कांग्रेस ने ज्यादातर और सपा ने कुछ सीटों के प्रत्याशी घोषित कर दिए हों पर भाजपा ने अब तक प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं की है।हालांकि उम्मीदवारों के नामों को लेकर पार्टी रणनीतिकारों ने दो दौर का विचार-विमर्श पूरा कर लिया है। बताया जा रहा है कि उपचुनाव वाली हर सीट पर कई-कई दावेदारों ने टिकट के लिए दावा ठोक दिया है। जानकारी के मुताबिक, बाराबंकी के जैदपुर में 28, लखनऊ के कैंट में 25, टूंडला में 20 दावेदारों ने दावा ठोक रखा है। कहीं-कहीं इनसे भी ज्यादा लोग टिकट मांग रहे हैं।दिलचस्प तो यह है कि लोकसभा चुनाव में जिन सांसदों का टिकट कट गया था, वह भी विधायक बनने के लिए जोर लगा रहे हैं। यूपी की इन 11 सीटों पर होंगे उपचुनाव गंगोह (सहारनपुर), रामपुर सदर (रामपुर), इगलास (अलीगढ़), गोविंद नगर (कानपुर नगर), लखनऊ कैंट (लखनऊ), मानिकपुर (चित्रकूट), प्रतापगढ़ सदर (प्रतापगढ़), जैदपुर (बाराबंकी), जलालपुर (अंबेडकरनगर), बलहा (बहराइच) और घोसी (मऊ) सीटों पर उपचुनाव होने हैं।