CAA पर आजमगढ़ में बवाल: पुलिस ने महिला प्रदर्शनकारियों पर किया लाठीचार्ज, पुलिस भी घायल

caa
CAA पर आजमगढ़ में बवाल: पुलिस ने महिला प्रदर्शनकारियों पर किया लाठीचार्ज, पुलिस भी घायल

आजमगढ़। दिल्ली की शाहीन बाग की तर्ज पर अजामगढ़ के बिलरियागंज कस्बे के मौलाना जौहर अली पार्क में सीएए काा विरोध किया जा रहा है। बुधवार सुबह वहां पर बवाल हो गया। इस दौरान पुलिस पर पथराव ​भी किया गया, जिसमें पुलिसकर्मी घायल भी हो गए। वहीं, पुलिस ने भी महिला प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया। इस दौरान आंसू गैस के गोले भी दागे गए। पुलिस ने पार्क में टैंकर मंगाकर पानी भर दिया है।

Caa Causing Ruckus In Azamgarh Police Lathi Charge Women Protesters Police Also Injured :

पार्क के आस पास भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। किसी को उधर जाने नहीं दिया जा रहा है। बता दें कि, मंगलवार को गोपालपुर के सपा विधायक नफीस अहमद प्रदर्शनकारियों के पास रात दस बजे पहुंचे थे और उन्हें समझाया था लेकिन धरना खत्म नहीं हो सका। बुधवार तड़के चार बजे महिलाओं की ओर से सुरक्षा में तैनात पुलिस वालों पर पथराव किया गया।

इसके बाद पुलिस ने लाठी लाठीचार्ज कर महिलाओं को खदेड़ दिया और आंसू गैस के गोले भी दागे। पुलिस ने पार्क में टैंकर मंगाकर पानी भर दिया। पार्क के आसपास भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। किसी को उस ओर जाने नहीं दिया जा रहा है। बता दें कि, इस धरना प्रदर्शन की न तो पूर्व की कोई घोषणा ही थी, न ही अनुमति लिया गया था। पुलिस और जिला प्रशासन को ऐसे किसी आयोजन की जानकारी ही नहीं थी।

मंगलवार को 11 बजे के लगभग मौलाना जौहर अली पार्क में सैकड़ों की संख्या में महिलाएं तिरंगा झंडा लेकर पहुंच गई। इसके बाद मौके पर धरना-प्रदर्शन व नारेबाजी शुरू हो गई। धरना-प्रदर्शन की जानकारी होते ही बिलरियागंज पुलिस के हाथ पांव फूल गये। पुलिस टीम भी मौके पर पहुंच गई और धरना समाप्त कराने की कवायद शुरू कर दी गई।

आजमगढ़। दिल्ली की शाहीन बाग की तर्ज पर अजामगढ़ के बिलरियागंज कस्बे के मौलाना जौहर अली पार्क में सीएए काा विरोध किया जा रहा है। बुधवार सुबह वहां पर बवाल हो गया। इस दौरान पुलिस पर पथराव ​भी किया गया, जिसमें पुलिसकर्मी घायल भी हो गए। वहीं, पुलिस ने भी महिला प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया। इस दौरान आंसू गैस के गोले भी दागे गए। पुलिस ने पार्क में टैंकर मंगाकर पानी भर दिया है। पार्क के आस पास भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। किसी को उधर जाने नहीं दिया जा रहा है। बता दें कि, मंगलवार को गोपालपुर के सपा विधायक नफीस अहमद प्रदर्शनकारियों के पास रात दस बजे पहुंचे थे और उन्हें समझाया था लेकिन धरना खत्म नहीं हो सका। बुधवार तड़के चार बजे महिलाओं की ओर से सुरक्षा में तैनात पुलिस वालों पर पथराव किया गया। इसके बाद पुलिस ने लाठी लाठीचार्ज कर महिलाओं को खदेड़ दिया और आंसू गैस के गोले भी दागे। पुलिस ने पार्क में टैंकर मंगाकर पानी भर दिया। पार्क के आसपास भारी फोर्स तैनात कर दी गई है। किसी को उस ओर जाने नहीं दिया जा रहा है। बता दें कि, इस धरना प्रदर्शन की न तो पूर्व की कोई घोषणा ही थी, न ही अनुमति लिया गया था। पुलिस और जिला प्रशासन को ऐसे किसी आयोजन की जानकारी ही नहीं थी। मंगलवार को 11 बजे के लगभग मौलाना जौहर अली पार्क में सैकड़ों की संख्या में महिलाएं तिरंगा झंडा लेकर पहुंच गई। इसके बाद मौके पर धरना-प्रदर्शन व नारेबाजी शुरू हो गई। धरना-प्रदर्शन की जानकारी होते ही बिलरियागंज पुलिस के हाथ पांव फूल गये। पुलिस टीम भी मौके पर पहुंच गई और धरना समाप्त कराने की कवायद शुरू कर दी गई।