सीएए प्रदर्शन: अलीगढ़ में दूसरे दिन भी माहौल तनावपूर्ण, कई इलाकों में भीड़ जुटी

CAA
सीएए प्रदर्शन: अलीगढ़ में दूसरे दिन भी माहौल तनावपूर्ण, कई इलाकों में भीड़ जुटी

अलीगढ़। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ अलीगढ़ में प्रदर्शन के कारण माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। सोमवार सुबह से ही शहर के प्रमुख बाजार बंद हैं। पूरे शहर में भारी तादात में पुलिस बल तैनात है। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के पास पुरानी चुंगी में बड़ी संख्या में लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं।

Caa Protest Aligarh Tense For Second Day Crowds Gather In Many Areas :

वहीं शाहजमाल इलाके में महिलाओं का विरोध प्रदर्शन जारी है। रविवार को पुरानी चुंगी में करीब एक हजार और जमालपुर में डेढ़ हजार प्रदर्शनकारी धरना दे रहे थे, जिन्हें देर रात करीब तीन बजे पुलिस ने बल प्रयोग कर हटाया। इसके बाद अबतक पुलिस और प्रदर्शकारियों की ओर से पांच-पांच मुकदमे दर्ज कराए जा चुके हैं।

सोमवार को दिल्ली में पथराव की खबर के बाद से ही अलीगढ़ के प्रदर्शनकारियों में आक्रोश भड़का हुआ है। दोपहर तीन बजे के करीब जाफराबाद और मौजपुर में पथराव की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इस पर स्थानीय लोगों को गुस्सा और बढ़ गया।

बता दें कि रविवार को अलीगढ़ के ऊपरकोट, बाबरी मंडी, शाहजमाल और चरखवालान में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन हिंसक हो गया। लोगों ने पुलिस पर पथराव, फायरिंग और आगजनी की। वहीं, ऊपरकोट कोतवाली इंस्पेक्टर की कार पर पथराव कर दिया, जिसमें वह बाल बाल बच गए। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।

इस बीच, एक प्रदर्शनकारी को गोली लग गई, जिसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल की पहचान हार्डवेयर कारोबारी तारिक के रूप में हुई है। वहीं, सोशल मीडिया पर अफवाह रोकने के लिए 24 घंटे के लिए इंटरनेट को बंद कर दिया गया है।

अलीगढ़। नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ अलीगढ़ में प्रदर्शन के कारण माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। सोमवार सुबह से ही शहर के प्रमुख बाजार बंद हैं। पूरे शहर में भारी तादात में पुलिस बल तैनात है। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के पास पुरानी चुंगी में बड़ी संख्या में लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं शाहजमाल इलाके में महिलाओं का विरोध प्रदर्शन जारी है। रविवार को पुरानी चुंगी में करीब एक हजार और जमालपुर में डेढ़ हजार प्रदर्शनकारी धरना दे रहे थे, जिन्हें देर रात करीब तीन बजे पुलिस ने बल प्रयोग कर हटाया। इसके बाद अबतक पुलिस और प्रदर्शकारियों की ओर से पांच-पांच मुकदमे दर्ज कराए जा चुके हैं। सोमवार को दिल्ली में पथराव की खबर के बाद से ही अलीगढ़ के प्रदर्शनकारियों में आक्रोश भड़का हुआ है। दोपहर तीन बजे के करीब जाफराबाद और मौजपुर में पथराव की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इस पर स्थानीय लोगों को गुस्सा और बढ़ गया। बता दें कि रविवार को अलीगढ़ के ऊपरकोट, बाबरी मंडी, शाहजमाल और चरखवालान में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन हिंसक हो गया। लोगों ने पुलिस पर पथराव, फायरिंग और आगजनी की। वहीं, ऊपरकोट कोतवाली इंस्पेक्टर की कार पर पथराव कर दिया, जिसमें वह बाल बाल बच गए। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े। इस बीच, एक प्रदर्शनकारी को गोली लग गई, जिसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल की पहचान हार्डवेयर कारोबारी तारिक के रूप में हुई है। वहीं, सोशल मीडिया पर अफवाह रोकने के लिए 24 घंटे के लिए इंटरनेट को बंद कर दिया गया है।