सीएए का विरोध: कानपुर के चमनगंज में सड़क पर उतरीं मुस्लिम महिलाएं, तनाव व्याप्त

Kanpur
सीएए का विरोध: कानपुर के चमनगंज में सड़क पर उतरीं मुस्लिम महिलाएं, तनाव व्याप्त

कानपुर। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में कानपुर शहर में ​एक बार फिर तनाव व्याप्त हो गया है। बीते काफी समय से मोहम्मद अली पार्क में धरने पर बैठी महिलाओं को हटाने के लिए सोमवार सुबह पुलिस फोर्स पहुंची तो तनाव एकाएक बढ़ गया। क्षेत्र की मुस्लिम महिलाएं सड़क पर उतर आईं और विरोध करने लगी। सूचना पर जिलाधिकारी और एसएसपी मौके पर पहुंचे हैं। आला अधिकारी महिलाओं को समझाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन महिलाएं धरना समाप्त करने से इंकार कर रही हैं।

Caa Protest Muslim Women Descended On Road In Chamanganj Kanpur :

बता दें कि 21 दिसंबर को सीएए को लेकर विरोध प्रदर्शन के दौरान हुए बवाल के करीब दस दिन बाद मुस्लिम महिलाओं ने मोहम्मद अली पार्क में क्रमिक धरना शुरू कर दिया था। महिलाएं राज दोपहर बाद चार बजे से रात आठ बजे तक धरना दे रही थीं। बीच में प्रशासनिक व पुलिस अफसरों ने धरना समाप्त करने के लिए समझाने का प्रयास किया था लेकिन महिलाओं ने इंकार कर दिया था।

पुलिस ने बीच में कई बार महिलाओं और धरना देने वालों पर शांतिभंग और धारा 149 में पाबंद करने की कार्रवाई भी की लेकिन इसके बाद भी धरना बंद नहीं हुआ था। पुलिस का कहना है कि पीएफआई द्वारा धरने को आर्थिक मदद मिल रही है। शनिवार को डीएम ब्रह्मदेव राम तिवारी और एसएसपी अनंतदेव ने धरना स्थल पर पहुंचकर महिलाओं से वार्ता की थी। अफसरों ने धरना समाप्त होने का ऐलान कर दिया था और महिलाओं के मान जाने की बात कही थी। लेकिन उनके जाने के बाद दोपहर में महिलाओं ने फिर मोहम्मद अली पार्क में पहुंचकर धरना देते हुए रविवार से चौबीस घंटे धरना का ऐलान कर दिया था।

कानपुर। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में कानपुर शहर में ​एक बार फिर तनाव व्याप्त हो गया है। बीते काफी समय से मोहम्मद अली पार्क में धरने पर बैठी महिलाओं को हटाने के लिए सोमवार सुबह पुलिस फोर्स पहुंची तो तनाव एकाएक बढ़ गया। क्षेत्र की मुस्लिम महिलाएं सड़क पर उतर आईं और विरोध करने लगी। सूचना पर जिलाधिकारी और एसएसपी मौके पर पहुंचे हैं। आला अधिकारी महिलाओं को समझाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन महिलाएं धरना समाप्त करने से इंकार कर रही हैं। बता दें कि 21 दिसंबर को सीएए को लेकर विरोध प्रदर्शन के दौरान हुए बवाल के करीब दस दिन बाद मुस्लिम महिलाओं ने मोहम्मद अली पार्क में क्रमिक धरना शुरू कर दिया था। महिलाएं राज दोपहर बाद चार बजे से रात आठ बजे तक धरना दे रही थीं। बीच में प्रशासनिक व पुलिस अफसरों ने धरना समाप्त करने के लिए समझाने का प्रयास किया था लेकिन महिलाओं ने इंकार कर दिया था। पुलिस ने बीच में कई बार महिलाओं और धरना देने वालों पर शांतिभंग और धारा 149 में पाबंद करने की कार्रवाई भी की लेकिन इसके बाद भी धरना बंद नहीं हुआ था। पुलिस का कहना है कि पीएफआई द्वारा धरने को आर्थिक मदद मिल रही है। शनिवार को डीएम ब्रह्मदेव राम तिवारी और एसएसपी अनंतदेव ने धरना स्थल पर पहुंचकर महिलाओं से वार्ता की थी। अफसरों ने धरना समाप्त होने का ऐलान कर दिया था और महिलाओं के मान जाने की बात कही थी। लेकिन उनके जाने के बाद दोपहर में महिलाओं ने फिर मोहम्मद अली पार्क में पहुंचकर धरना देते हुए रविवार से चौबीस घंटे धरना का ऐलान कर दिया था।