1. हिन्दी समाचार
  2. सीएए विरोध प्रदर्शन: बिजनौर हिंसा में 48 आरोपियों को मिली जमानत, पुलिस नहीं दे पाई सबूत

सीएए विरोध प्रदर्शन: बिजनौर हिंसा में 48 आरोपियों को मिली जमानत, पुलिस नहीं दे पाई सबूत

Caa Protests 48 Accused In Bijnor Violence Got Bail Police Could Not Provide Proof

By शिव मौर्या 
Updated Date

बिजनौर। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर देशभर के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन जारी है। इसको लेकर विपक्ष भी केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर है। वहीं, यूपी के बिजनौर में 20 दिसंबर को सीएए को लेकर विरोध प्रदर्शन हुआ था। प्रदर्शन के हिंसक रूप लेते ही दो लोगों की मौत हो गयी थी। इस मामले में पुलिस ने सकैड़ों लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया था। इसके साथ ही गिरफ्तारी भी हुई थी।

पढ़ें :- 3 नवंबर का राशिफल: इन राशि के जातकों को मिलेगी शुभ सूचना, इनकी दिक्कत होगी दूर... जानिए बाकी राशियों का हाल

वहीं, बीते ​बुधवार को अदालत ने इस मामले में गिरफ्तार किए गए 83 लोगों में से 48 लोगों को जमानत दे दी है। बता दें कि, विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा में दो लोगों की जान गयी थी। शुरूआत में पुलिस ने दावा किया था कि उसकी गोली से किसी की भी मौत नहीं हुई है। हालांकि, बाद में उन्होंने कहा था कि एक लोगों की मौत उनकी गोली से हुई है।

इस मामले में जब कोर्ट में दो दिन पहले सुनवाई शुरु हुई तो जज ने पुलिस की जांच पर कई सवाल उठाए और इनमें से 48 लोगों को सशर्त जमानत दे दी। पुलिस का कहना था कि प्रदर्शकारियों की तरफ से फायरिंग की गई लेकिन इसके कोई भी सबूत पेश नहीं किए जा सके।

मामले की सुनवाई के दौरान जज ने कहा कि एफआईआर में भीड़ के पुलिस पर गोली चलाने की बात कही गई है लेकिन हथियार मिलने के कोई सबूत नहीं दिए गए। भीड़ से किसी ने पुलिस पर गोली चलाई लेकिन इसके सबूत नहीं हैं। सरकारी वकील के मुताबिक, हिंसा में 13 पुलिस वाले घायल हुए लेकिन मेडिकल रिपोर्ट में पुलिसकर्मियों को मामूली चोट की बात सामने आई है।

पढ़ें :- कोरोना वायरस: पंजाब में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को दी जाएगी कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...