1. हिन्दी समाचार
  2. सीएए विरोध प्रदर्शन : 14 दिन बाद जेल से रिहा हुई एकता, मां को देख खुशी से उछल पड़ी मासूम चंपक

सीएए विरोध प्रदर्शन : 14 दिन बाद जेल से रिहा हुई एकता, मां को देख खुशी से उछल पड़ी मासूम चंपक

Caa Protests Unity Released From Jail After 14 Days Innocent Champ Jumped With Joy After Seeing Mother

By शिव मौर्या 
Updated Date

वाराणसी। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार सामाजिक कार्यकर्ता एकता शेखर 14 दिन बाद गुरुवार जिला जेल से रिहा हो गई। रिहाई के बाद एकता जैसे ही अपने महमूरगंज स्थित आवास पर पहुंची तो उनकी सवा साल की मासूम बच्ची खुशी से उछलकर मां के गले लग गई। वहीं, मासूम बेटी को देखते ही एकता भावुक हो गयी। इस दौरान एकता ने बताया जेल में बेटी की चिंता सताये जा रही थी।

पढ़ें :- नेपाल में राजशाही लागू करने की उठी मांग, सड़क पर उतरे प्रदर्शनकारी

उनका कहना है कि चंपक अभी सिर्फ दूध पीकर रहती है, जिसके कारण वह परेशान रहती थी। उन्होंने कहा कि मुझे गर्व है कि मैं सामाजिक मुद्दों के लिए जेल में रही। लेकिन बेटी से दूरी बेहद कष्टदायी रहा। एकता ने बताया शाम तक पति रविशेखर भी रिहा हो जायेंगे। बता दें कि, नागरिकता संशोधन कानून के विरोध प्रदर्शन के दौरान एकता और उनके पति रविशेखर को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

एकता के जेल में बंद होने के बाद उसकी मासूम बच्ची को लेकर सास, पति के बड़े भाई बेहद चिंतित रहे। मासूम बच्ची पिछले 14 दिनों से मां से न मिलने पर रो-रोकर बीमार हो गई। वहीं, इसको लेकर एकता की सास शीला तिवारी ने चंपक को लेकर पीएम मोदी के संसदीय कार्यालय पहुंची थी, जहां बेटी और बहू की रिहाई की मांग की थी। बीते बुधवार को न्यायालय ने एकता की जमानत मंजूर कर ली। सुबह एकता के साथ 15 अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं की भी जेल से रिहाई हो गई। इस मामले में अन्य आरोपियों की जमानत मंजूर हो गई है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...