13 दिन में 20% घटी चाइनीज आइटम की मांग

नई दिल्ली| चाइनीज आइटम को बॉयकाट करने के कारण इस बार दीपावली में चीनी उत्पादों का व्यापार ठप हो गया है। इसका असर चीन की आर्थिक व्यवस्था पर भी पड़ेगा। त्योहारी सीज़न के बावजूद बीते 13 दिनों में चाइनीज प्रोडक्ट्स की मांग 20 फ़ीसदी तक घट गई है। भारत-पाकिस्तान के आपसी तनाव के बीच चीन के भारत विरोधी रवैये के बाद सोशल मीडिया पर चाइना मेड सामान नहीं खरीदने की अपील की जा रही है।




कारोबारियों को डर लग रहा है कि लागत भी निकल पाएगी या नहीं, चीन के सामान की खरीद में 10-15 % की कमी को देखने के बाद उनके लिए लागत निकालना भी बहुत मुश्किल हो गया है। प्रोडक्ट्स के बायकॉट के लिए सोशल मीडिया पर एक तरह का कैम्पेन चल रहा है। वॉट्सऐप, फेसबुक और ट्विटर पर जमकर विरोध हो रहा है। जबकि दिवाली जैसे त्योहारों पर तो 2-3 महीनों पहले से ही चाइनीस लाइटिंग जैसे और सामानो की देशभर में बड़े पैमाने पर खरीद शुरू हो जाती है।

भारत और चीन के बीच करीब 4.5 लाख करोड़ रुपए से भी ज्यादा का कारोबार होता है। हम चीन से, एक्सपोर्ट के मुकाबले 6.66 गुना ज्यादा इम्पोर्ट करते हैं। 2015-16 में भारत ने चीन को करीब 60,000 करोड़ रुपए का सामान इम्पोर्ट किया है।

रिपोर्ट: आस्था सिंह