1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. क्या फिर बसपा और सपा आ सकते हैं साथ, लोकसभा चुनाव 2024 से पहले हो सकता है गठबंधन

क्या फिर बसपा और सपा आ सकते हैं साथ, लोकसभा चुनाव 2024 से पहले हो सकता है गठबंधन

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले BJP के खिलाफ विपक्षी दल एक होते जा रहे हैं. इसी के मद्देनज़र उत्तर प्रदेश की सियासत में भी बड़े बदलाव देखने को मिल सकते हैं.

By शिव मौर्या 
Updated Date
लखनऊ. लोकसभा चुनाव 2024 से पहले BJP के खिलाफ विपक्षी दल एक होते जा रहे हैं. इसी के मद्देनज़र उत्तर प्रदेश की सियासत में भी बड़े बदलाव देखने को मिल सकते हैं. कहा जा रहा है एक बार फिर से समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी एक साथ आ सकते हैं.
मीडिया रिपोर्ट की माने तो अखिलेश यादव ने इस गठबंधन को लेकर जल्द ही कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं. सपा के राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए गुरुवार को उन्होंने जो कहा उससे तो यही कयास लगाए जा रहे हैं.  दरअसल, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दो दिवसीय सम्मेलन के दौरान एक बार भी मायावती पर हमला नहीं बोला. इसके अलावा उन्होंने लोहियावादियों और आंबेडकरवादियों को साथ लेकर चलने की भी बात कही.
अंबेडकरवादियों को साथ लेकर चलने की बात को मायावती संग एक बार फिर से गठबंधन के संकेत के तौर पर भी देखा जा रहा है. अखिलेश यादव ने इससे पहले बुधवार को भी बीएसपी या फिर मायावती पर कोई टिप्पणी नहीं की थी. बता दें कि 2019 के आम चुनाव में सपा और बसपा ने गठबंधन किया था. दोनों को 15 सीटों पर जीत मिली थी, लेकिन अकेले बसपा के खाते में ही 10 सीटें थीं और सपा के हाथ में 5 सीट जीती थी.

पढ़ें :- UP By-Election Result 2022: मैनपुरी में बड़ी जीत के बीच शिवपाल यादव की पार्टी प्रसपा का समाजवादी पार्टी में विलय
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...