पति-पत्नी खाते थे इंसानी गोश्त, अपनी भूख के लिए कर डाले 30 मर्डर

dmitriy baksheev
अपनी भूख के लिए कर डाले 30 मर्डर

रूस में एक बेहद चौकाने वाला मामला सामने आया है। जहां इंसानी गोश्त खाने वाले दंपति को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इन दोनों के मकान से पुलिस को कई शवों के अवशेष और डीप फ्रीजर में अलग अलग तरीके से रखे गए इंसानी गोश्त के पैकेट मिले हैं। पुलिस का दावा है कि यह दंपति लंबे समय से लोगों को अपना शिकार बनाकर उन्हें अपना निवाला बना रहा था।

एक रिपोर्ट के मु​ताबिक रूस के क्रसनदर शहर में एक मोबाइल फोन किसी व्यक्ति के हाथ लगा। उस व्यक्ति ने फोन में मौजूद फोटोज को देखा तो वह हिल गया। फोन में एक शख्स मरे हुए लोगों के अंगों के साथ नजर आ रहा था। अलग—अलग अंगों के साथ इस व्यक्ति की तस्वीरें देखने के बाद वह व्यक्ति पुलिस आधिकारियों तक पहुंचा। इन तस्वीरों के आधार पर जब पुलिस ने छानबीन शुरू की तो वह 35 वर्षीय दिमित्री बकशीव तक पहुंचे।

{ यह भी पढ़ें:- 'बिहार की बेटी' ने विदेश में लहराया परचम, खूबसूरती के दीवाने हुए लोग }

बताया जा रहा है कि पुलिस की पड़ताल में सामने आया कि दिमित्री अपनी 42 वर्षीय नर्स पत्नी नतालिया के साथ रहता है। उसने कुबूल किया है वह 1999 से लोगों की हत्या कर उनके शव को खाते आ रहा है। नरभक्षी दंपति ने स्वीकार किया है कि अब तक वे 30 लोगों की हत्या कर अपना निवाला बना चुके है।

दिमित्री के घर की छानबीन में कई ऐसे साक्ष्य पुलिस के हाथ लगे हैं जिनके आधार पर पुलिस इस दंपति के नरभक्षी होने की पुष्टि की है। पुलिस को दिमित्री के मकान में एक तहखाना मिला है। जहां मानव अंगों को अलग अलग पैकेट में करके प्रिजर्व किया गया था। यह दंपत्ति इनता वहशी था जिसने मानव गोश्त को खाने के लिए उसका अचार भी तैयार किया था।

{ यह भी पढ़ें:- रशियन जर्नलिस्ट की खोज से खुला सुसाइड गेम 'ब्लू व्हेल' का राज, जानें पूरा सच }

एक रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस अधिकारियों ने दमित्री की पत्नी का मा​नसिक परीक्षण भी करवाया लेकिन ऐसा कुछ नहीं पाया गया जिसके आधार पर उसे मानसिक रूप से बीमार कहा जा सके।