कार न मिलने पर दहेजलोभी ससुराल वालों ने 72 घंटों में नवविवाहिता को पहुंचा दिया अस्पताल

दहेजलोभी ससुराल
कार न मिलने पर दहेजलोभी ससुराल वालों ने 72 घंटों में नवविवाहिता पहुंचा दिया अस्पताल

मुजफ्फरनगर। यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में दहेज लोभियों ने नवविवाहिता को शादी 72 घंटे बाद ही ऐसी यातनाएं दीं, जिसने सुनकर बेटी को विदा करने वाले परिवार के होश उड़ गए। हुआ यूं कि दहेजलोभी ससुराली जनों ने नवविवाहिता का नए घर में स्वागत तानों और पिटाई के साथ किया। शुरूआत बारात को मिले खाने के खराब होने से हुई फिर कार न मिलने को लेकर पिटाई तक पहुंच गई।

Car Seeker Dowry Demanding In Laws Beats Newly Married Bride To Hospital :

आरोप है कि ससुराली जनों ने उसे जमकर पीटने के साथ ही उसके प्राइवेट पार्ट में हाथ तक डाल दिया। इस दौरान उसके जेठ के लड़कों ने भी उसके साथ छेड़खानी की। विवाहिता की हालत बिगड़ी तो ससुरालीजन उसे मायके में छोड़कर भाग निकले। परिजनों ने उसे गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया और इसकी सूचना पुलिस को दी। अब पुलिस मामला दूसरे थाने का बताकर अपना पल्ला झाड़ रही है। पीड़ित पिता अब तीन थानों के चक्कर लगा रहा है, बावजूद इसके कही उसकी बात तक नहीं सुनी गई।

मिली जानकारी के मुताबिक घटना मुजफ्फरनगर के सुभाषनगर इलाके की है। जहां के निवासी इमरान मलिक ने अपनी बेटी रूबीना की शादी 25 मार्च को बड़े धूमधाम की थी। पीड़ित पिता के मुताबिक शादी की सारी व्यवस्थाएं लड़के वालों से पूछकर की गईं थीं। शादी में बेटी की ससुराल के सभी लोग बड़े खुश थे और वो उसे विदा कराकर अपने घर ले गए। वहां पहुंचते ही उन लोगों ने रूबीना को ये कहते हुए पीटना शुरू कर दिया कि तुम्हारे घर वालों ने शादी में न तो अच्छा खाना खिलाया और न ही दहेज में कार दी। फिलहाल अस्पताल में भर्ती रूबीना की हालत डाक्टरों ने नाजुक बताई है।

पीड़िता के रिश्तेदारों ने बताया कि लड़की ​के पिता अपनी बेटी से कितना प्यार करते हैं और कितने सामाजिक है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होने बेटी के शादी के कार्ड पर ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ’ का स्लोगन लिखवाया था। घटना के बाद से पीड़ित परिवार तीन थानों के चक्कर लगा रहा है, लेकिन उसकी फरियाद सुनने वाला कोई नहीं है।

मुजफ्फरनगर। यूपी के मुजफ्फरनगर जिले में दहेज लोभियों ने नवविवाहिता को शादी 72 घंटे बाद ही ऐसी यातनाएं दीं, जिसने सुनकर बेटी को विदा करने वाले परिवार के होश उड़ गए। हुआ यूं कि दहेजलोभी ससुराली जनों ने नवविवाहिता का नए घर में स्वागत तानों और पिटाई के साथ किया। शुरूआत बारात को मिले खाने के खराब होने से हुई फिर कार न मिलने को लेकर पिटाई तक पहुंच गई।आरोप है कि ससुराली जनों ने उसे जमकर पीटने के साथ ही उसके प्राइवेट पार्ट में हाथ तक डाल दिया। इस दौरान उसके जेठ के लड़कों ने भी उसके साथ छेड़खानी की। विवाहिता की हालत बिगड़ी तो ससुरालीजन उसे मायके में छोड़कर भाग निकले। परिजनों ने उसे गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया और इसकी सूचना पुलिस को दी। अब पुलिस मामला दूसरे थाने का बताकर अपना पल्ला झाड़ रही है। पीड़ित पिता अब तीन थानों के चक्कर लगा रहा है, बावजूद इसके कही उसकी बात तक नहीं सुनी गई।मिली जानकारी के मुताबिक घटना मुजफ्फरनगर के सुभाषनगर इलाके की है। जहां के निवासी इमरान मलिक ने अपनी बेटी रूबीना की शादी 25 मार्च को बड़े धूमधाम की थी। पीड़ित पिता के मुताबिक शादी की सारी व्यवस्थाएं लड़के वालों से पूछकर की गईं थीं। शादी में बेटी की ससुराल के सभी लोग बड़े खुश थे और वो उसे विदा कराकर अपने घर ले गए। वहां पहुंचते ही उन लोगों ने रूबीना को ये कहते हुए पीटना शुरू कर दिया कि तुम्हारे घर वालों ने शादी में न तो अच्छा खाना खिलाया और न ही दहेज में कार दी। फिलहाल अस्पताल में भर्ती रूबीना की हालत डाक्टरों ने नाजुक बताई है। ​ पीड़िता के रिश्तेदारों ने बताया कि लड़की ​के पिता अपनी बेटी से कितना प्यार करते हैं और कितने सामाजिक है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होने बेटी के शादी के कार्ड पर ‘बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ’ का स्लोगन लिखवाया था। घटना के बाद से पीड़ित परिवार तीन थानों के चक्कर लगा रहा है, लेकिन उसकी फरियाद सुनने वाला कोई नहीं है।