1. हिन्दी समाचार
  2. ‘The Accidental Prime Minister’ के अभिनेता अनुपम सहित 14 पर FIR का आदेश

‘The Accidental Prime Minister’ के अभिनेता अनुपम सहित 14 पर FIR का आदेश

Case Filed Against Anupam Kher And 13 Others For The Accidental Prime Minister

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। फिल्म ‘The Accidental Prime Minister’ को लेकर अभिनेता अनुपम खेर की मुश्किल बढ़ गई है। याचिका पर सुनवाई करते हुए बिहार के एक कोर्ट ने मंगलवार को अनुपम और 13 अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया। अदालत ने ये आदेश वकील सुधीर ओझा की एक याचिका पर सुनवाई के बाद दिया जो फिल्म ‘The Accidental Prime Minister’ के खिलाफ दायर की गई थी। अनुपम ने फिल्म में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की भूमिका निभाई है।

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश स्थापना दिवसः पीएम मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ से लेकर कई नेताओं ने दी बधाई

आरोप- देश की छवि बिगाड़ने वाली है फिल्म

सुधीर ने अपने परिवाद में फिल्म ‘The Accidental Prime Minister’ को देश की छवि बिगाड़ने वाला बताया है। उनका आरोप है कि फिल्म से देश की सुरक्षा को खतरा पहुंचा है। परिवाद में अभिनेता अनुपम खेर, अभिनेता अर्जुन माथुर समेत फिल्म से जुड़े 14 कलाकारों को नामजद व पांच अन्य कलाकारों को आरोपित किया गया है।

अधिवक्ता ओझा का कहना है कि उन्होंने टीवी व यू ट्यूब पर ‘The Accidental Prime Minister’ फिल्म का प्रचार देखा। इसमें काफी दृश्य ऐसे हैं, जिन्हें देश की सुरक्षा को लेकर गलत तरीके से पेश किया गया है। साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की छवि के साथ ही देश की भी छवि बिगाड़ने एवं प्रतिष्ठा हनन का कार्य किया गया है। राहुल गांधी, सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी, लालू प्रसाद यादव, सुषमा स्वराज, लालकृष्ण आडवाणी, मायावती, स्व. पीवी नरसिम्हा राव, स्व. अटल बिहारी बाजपेयी समेत कई नेताओं के नाम के साथ फिल्मांकन कर मजाक व मखौल बनाने का कार्य देख कर वह दुखी हैं।

आईपीसी की इन धाराओं के तहत लगाए गए थे आरोप

अधिवक्ता श्री ओझा ने बताया कि भावनाएं भड़काने के लिए आईपीसी की धारा 295, हिंसा भड़काने या आंदोलन भड़कने की आशंका को लेकर 153 व 153-ए के तहत, अपमानित करने के लिए धारा 504 व 506 के तहत और सारे लोगों द्वारा मिलकर साजिश करने के लिए 120 बी/34 के तहत आरोप लगाते हुए याचिका दायर की गई थी।

अधिवक्ता का आरोप था कि फिल्म में कई जीवित और मृत लोगों व नेताओं का सजीव चित्रण किया है, लेकिन किसी से भी अनुमति नहीं ली गई है। फिल्म रिलीज होगी तो पूरे देश-विदेश के लोग देखेंगे और ऐसे में देश की छवि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खराब होगी।

पढ़ें :- किसान आंदोलनः किसानों की ट्रैक्टर रैली को हर झंडी, पुलिस को अलर्ट रहने के आदेश

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...