भ्रष्‍टाचारी यादव सिंह पर CBI ने दर्ज किया एक और केस

भ्रष्‍टाचारी यादव सिंह पर CBI ने दर्ज किया एक और केस
भ्रष्‍टाचारी यादव सिंह पर CBI ने दर्ज किया एक और केस

Case Filed Against Yadav On Corruption Case Of Cbi

लखनऊ। नोएडा अथॉरिटी के चीफ इंजीनियर यादव सिंह पर लगातार सीबीआई का शिकंजा कसता चला जा रहा है। सीबीआई ने नोएडा की अलग-अलग कंपनियों को गलत तरीके से ठेके दिए जाने के आरोप में मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने यादव सिंह के साथ 5 कंपनियों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है। यह मामला नोएडा के पांच, दिल्‍ली के एक और रांची के 1 ठिकानों पर छापे मारने के बाद दर्ज कराया गया है।

बता दें कि 27-28 नवम्बर 2014 को यादव सिंह की पत्नी कुसुमलता और उनके सहयोगियों की कम्पनियों पर पड़े आयकर विभाग के छापों के बाद भ्रष्टाचार का यह मामला सुर्खियों में आया था। आयकर छापों के बाद यादव सिंह, उनके रिश्तेदारों व सहयोगियों की कई फर्जी कम्पनियों व हजारों करोड़ की बेनामी सम्पत्तियों का पता चला था। इसके बाद से मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की जा रही थी।

आयकर विभाग की जांच के दौरान यह बात सामने आई थी कि यादव सिंह ने 2002 से 2014 तक अपने कार्यकाल में मनमाने तरीके से अपने लोगों को 8 हजार करोड़ के ठेके दिए और करोड़ों की संपत्तियां एकत्र कीं। यादव सिंह पर गलत तरीके से प्रमोशन पाकर जूनियर इंजीनियर से तीनों प्राधिकरणों के चीफ इंजीनियर पद तक पहुंचने और भ्रष्टाचार, प्लॉट आवंटन व फर्जी कंपनियां खड़ी कर हजारों करोड़ की संपत्तियां जुटाने के आरोप लगे थे।

लखनऊ। नोएडा अथॉरिटी के चीफ इंजीनियर यादव सिंह पर लगातार सीबीआई का शिकंजा कसता चला जा रहा है। सीबीआई ने नोएडा की अलग-अलग कंपनियों को गलत तरीके से ठेके दिए जाने के आरोप में मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने यादव सिंह के साथ 5 कंपनियों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है। यह मामला नोएडा के पांच, दिल्‍ली के एक और रांची के 1 ठिकानों पर छापे मारने के बाद दर्ज कराया गया है। बता दें कि 27-28 नवम्बर…