सीबीआई ने मनीलॉड्रिंग के केस में दबोचे आरबीआई के कर्मचारी

नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद से देश के कई शहरों से छापेमारी कर देश की तमाम जांच एजेंसियां और आयकर विभाग की टीमें बड़ी मात्रा में कालाधन और कालेधन के जमाखोरों की धर पकड़ में जुटीं हैं। इसी क्रम में सीबीआई ने मंगलवार को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के बेंगलुरु ब्रांच के एक कर्मचारी को मनीलॉड्रिंग के आरोप में गिरफ्तार किया है। सीबीआई की जांच में आरबीआई के सीनियर स्पेशल असिस्टेंट मिशेल कट्टूकरन के साथ दो अन्य लोग मनीलॉड्रिंग के मामले में धरे गये है। सीबीआई के अधिकारियों का कहना है कि इनके पास से 17 लाख रुपये की नगदी भी बरामद हुई है।




छापेमारी पर कई शहरों में पकड़े गये नगदी की कालाबाज़ारी करने वाले

कालाधन की छानबीन में देश के कई शहरों में आयकर विभाग, सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों की पूरी टीम सक्रिय है। मंगलवार से लेकर अब तक करोड़ों रुपये का कालाधन जप्त किया है। मंगलवार को कर्नाटक में प्रवर्तन निदेशालय ने 93 लाख रुपये के नए नोट जब्त किए थे। इसके बाद दिल्ली में करोलबाग के एक होटल से 3.25 करोड़ रुपये के पुराने नोट जब्त किए थे। बुधवार सुबह ही चार जगहों से नए-पुराने नोटों की बरामदगी की गई है। आयकर विभाग ने छापा मारकर बेंगलुरु से नए नोटों की शक्ल में 2.25 करोड़ रुपये जब्त किए हैं। वहीं गोवा के पणजी से 68 लाख के नए नोट बरामद किए हैं। इनकम टैक्स विभाग, सीबीआई, प्रवर्तन निदेशालय और स्थानीय पुलिस लगातार कालेधन के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। नोटबंदी के बाद बीते एक महीने में ऐसी कार्रवाई देशभर में कई जगहों पर की गई है।




चंडीगढ़ में एक कपड़ा व्यापारी के घर प्रवर्तन निदेशालय ने छापा मारकर 2 करोड़ 18 लाख रुपये जब्त किए हैं। इनमें 18 लाख के नए नोट शामिल हैं। डेढ़ करोड़ रुपये 1000 के नोटों के रूप में है, बाकी पैसा 500, 50 और 10 रुपये के नोट में मिले है। ईडी को शक है कि यह पैसा हवाला कारोबार का हो सकता है।

करीब 500 बैंक शाखाओं में सरकार ने कराया स्टिंग ऑपरेशन

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कालेधन को सफेद करने में शामिल बैंक कर्मचारियों पर नकेल कसने के लिए करीब 500 बैंक शाखाओं में स्टिंग ऑपरेशन करवाया है। जिसके बाद सामने आए दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही जा रही है। पीएम मोदी भी साफ कह चुके हैं कि कैश स्कैम में शामिल बैंकरो, दलालों और हवाला कारोबारियों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा।

Loading...