देवरिया जेलकांड : CBI ने पूर्व सांसद अतीक अहमद के ठिकानों पर की छापेमारी

atik ahamad
देवरिया जेलकांड : सीबीआई ने पूर्व बाहुबली सांसद अतीक अहमद के ठीकानों पर की छापेमारी

देवरिया। देवरिया जेलकांड की जांच कर रही सीबीआई ने पूर्व सांसद अतीक अहमद पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। सीबीआई की टीम ने अतीक अहमद के कई ठीकानों पर छापेमारी की। सीबीआई ने अतीक के इलाहाबाद स्थित घर और कार्यालय में छापेमारी कर सुबूत जुटाए। इस दौरान सीबीआई के साथ पुलिस टीम भी मौजूद है। अतीक के घर का कोना-कोना खंगाला है। देवरिया जेल कांड में कोर्ट के आदेश के बाद केंद्रीय जांच एजेंसी ने कार्रवाई शुरू की है।

Cbi Raid On Ex Mps Atik Ahmed :

वहीं, मंगलवार को सीबीआई देवरिया जेलकांड की जांच में जुटी रही। देवरिया के होटलों का रिकॉर्ड खंगाल रही टीम यह जानने में जुटी रही कि देवरिया जेल में अतीक के रहने के दौरान किस-किसने यहां ठिकाना बनाया था। इसके साथ ही अतीक के गैंग से जुड़े लोग कब-कब और किस होटल में रूके थे। टीम जिला जेल से रिहा हुए उन बंदियों से भी पूछताछ में जुटी है जो अतीक के साथ उसके या आसपास की बैरक में थे।

गौरतलब है कि, अतीक अहमद के गुर्गों ने लखनऊ के व्यापारी मोहित जायसवाल का 26 दिसंबर को अपहरण किया था, जिसके बाद मोहित को लेकर देवियार जेल में पहुंचे थे। यहां उसकी पिटाई के बाद करोड़ों रुपये की प्रापर्टी जबरन अपने व करीबियों के नाम करा ली थी। किसी तरह उनके चंगुल से छूटकर लखनऊ पहुंचे मोहित ने वहां केस दर्ज कराया तब देवरिया पुलिस हरकत में आई।

मोहित की अपील पर कोर्ट ने मामले का संज्ञान लेते हुए सीबीआई को जांच का निर्देश दिया था। इसके बाद सीबीआई मामले में साक्षय जुटाने में जुट गयी है। सीबीआई टीम करीब एक माह से देवरिया में डटी हैं। सिंचाई विभाग के डाक बंगले में रुकी टीम ने कई बार जेल जाकर बंदियों-कैदियों, बंदीरक्षकों व जेल अधिकारियों के बयान दर्ज किए।

देवरिया। देवरिया जेलकांड की जांच कर रही सीबीआई ने पूर्व सांसद अतीक अहमद पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। सीबीआई की टीम ने अतीक अहमद के कई ठीकानों पर छापेमारी की। सीबीआई ने अतीक के इलाहाबाद स्थित घर और कार्यालय में छापेमारी कर सुबूत जुटाए। इस दौरान सीबीआई के साथ पुलिस टीम भी मौजूद है। अतीक के घर का कोना-कोना खंगाला है। देवरिया जेल कांड में कोर्ट के आदेश के बाद केंद्रीय जांच एजेंसी ने कार्रवाई शुरू की है। वहीं, मंगलवार को सीबीआई देवरिया जेलकांड की जांच में जुटी रही। देवरिया के होटलों का रिकॉर्ड खंगाल रही टीम यह जानने में जुटी रही कि देवरिया जेल में अतीक के रहने के दौरान किस-किसने यहां ठिकाना बनाया था। इसके साथ ही अतीक के गैंग से जुड़े लोग कब-कब और किस होटल में रूके थे। टीम जिला जेल से रिहा हुए उन बंदियों से भी पूछताछ में जुटी है जो अतीक के साथ उसके या आसपास की बैरक में थे। गौरतलब है कि, अतीक अहमद के गुर्गों ने लखनऊ के व्यापारी मोहित जायसवाल का 26 दिसंबर को अपहरण किया था, जिसके बाद मोहित को लेकर देवियार जेल में पहुंचे थे। यहां उसकी पिटाई के बाद करोड़ों रुपये की प्रापर्टी जबरन अपने व करीबियों के नाम करा ली थी। किसी तरह उनके चंगुल से छूटकर लखनऊ पहुंचे मोहित ने वहां केस दर्ज कराया तब देवरिया पुलिस हरकत में आई। मोहित की अपील पर कोर्ट ने मामले का संज्ञान लेते हुए सीबीआई को जांच का निर्देश दिया था। इसके बाद सीबीआई मामले में साक्षय जुटाने में जुट गयी है। सीबीआई टीम करीब एक माह से देवरिया में डटी हैं। सिंचाई विभाग के डाक बंगले में रुकी टीम ने कई बार जेल जाकर बंदियों-कैदियों, बंदीरक्षकों व जेल अधिकारियों के बयान दर्ज किए।