लालू से जुड़े 12 ठिकानों पर CBI का छापा, लालू बोले- मोदी की विदाई की तैयारी कर रहे हैं हम

पटना। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद और उनके परिवार के सदस्यों समेत 12 ठिकानों पर छापेमारी की। यह छापेमारी 2006 में बतौर रेल मंत्री रहते हुए रांची व पुरी के होटलों के रखरखाव का ठेका (टेंडर) देने में कथित अनियमितता के नए मामले को लेकर की गई। सीबीआई के एक अधिकारी के मुताबिक, लालू के छोटे बेटे और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के आवास पर भी छापेमारी की गई है। दिल्ली, गुरुग्राम, पटना, रांची और पुरी के 12 स्थानों पर सीबीआई ने छापेमारी की।

सीबीआई ने लालू, उनकी पत्नी और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव, भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) के पूर्व प्रबंध निदेशक पी.के. गोयल और लालू के विश्वासपात्र प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सुजाता के खिलाफ 2006 में रांची और पुरी में होटल के रखरखाव और संचालन का ठेका (टेंडर) देने में नियमों की अनदेखी करने के आरोपों को लेकर मामला दर्ज किया है। इसी साल होटलों की जिम्मेदारी आईआरसीटीसी को दे दी गई थी। लालू प्रसाद 2004 से 2009 के बीच रेल मंत्री रहे थे।

CBI की एफ़आईआर में ये नाम हैं शामिल—

लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी (लालू की पत्नी), तेजस्वी प्रसाद यादव(बिहार के डिप्टी सीएम), सरला गुप्ता (आरजेडी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी), पीके गोयल (पूर्व आईआरसीटीसी मैनेजिंग डायरेक्टर), विजय कोचर (होटल चाणक्य की मालिकाना हक वाली कंपनी के डायरेक्टर), विनय कोचर (सुजाता होटल्स कंपनी के डायरेक्टर और विजय कोचर के भाई), मेसर्स लारा प्रोजेक्ट्स (पटना में मॉल के लिए जमीन खरीदने वाली यादव फैमिली कंपनी)

लालू बोले–BJP की साजिश—

लालू ने कहा, हम बीजेपी और नरेंद्र मोदी की विदाई की तैयारी कर रहे हैं। मैं बीजेपी की गीदड़ भभकी से डरने वाला नहीं। बीजेपी को तोड़ कर रहूंगा। यह मेरे खिलाफ राजनीतिक साजिश है। मैंने कुछ गलत नहीं किया है। जो भी हुआ नियमों के हिसाब से हुआ है। मैंने पत्नी से कहा कि सीबीआई अफसरों का आदर करो, बिठाओ। केस की जानकारी लो।