श्रवण साहू हत्याकांड की CBI जांच शुरू, पुलिसकर्मियों के साथ कई सफेदपोश भी होंगे बेनकाब

लखनऊ| सीबीआई ने बुधवार को सआदतगंज के बहुचर्चित श्रवण साहू हत्याकांड की जांच शुरू कर दी| सीबीआई की एससीबी ने इस मामले में अकील और दो अन्य के खिलाफ हत्या और आपराधिक साजिश का मामला दर्ज किया है| सीबीआई के डीआईजी समेत अन्य अफसर शाम चार बजे सआदतगंज स्थित श्रवण साहू के घर पहुंचे और परिवारजनों से बातचीत की| परिवारजनों ने इस दौरान अकील और शूटरों को फांसी की सजा और अन्य आरोपियों के लिए उम्रकैद की मांग की है| परिवार वालों का कहना है कि अब सीबीआई ही उन्हें इंसाफ दिला सकती है|




श्रवण के साले अमृतलाल साहू ने कहा कि सीबीआई जांच में हत्याकांड से जुड़े पुलिसकर्मियों सहित कई सफेदपोश भी बेनकाब होंगे| उन्होंने कहा कि एक पिता अपने बेटे के हत्यारों को गिरफ्तार करवाने के लिए अपनी ही उम्र के पुलिसकर्मियों के आगे हाथ जोड़ता रहा लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई| उन्होंने बताया कि श्रवण को फंसाने के लिए 14 पुलिसवालों ने अकील और उसके अपराधी साथियों का पूरा सहयोग किया| उन्होंने कहा कि हत्यारोपियों की गिरफ्तारी तो हुई लेकिन पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी नहीं हुई| अब सीबीआई जांच के बाद पुलिसकर्मियों पर भी शिकंजा कसेगा|

बता दें कि लखनऊ के सआदतगंज क्षेत्र मे एक फरवरी की रात्रि हुई तेल व्यापारी श्रवण साहू की हत्या के मामले मे इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने मामले की जांच के आदेश सीबीआई को दिए थे जिसके बाद सीबीआई ने अपनी जांच शुरू कर दी है| सीबीआई द्वारा जांच शुरू करने के बाद से ही इस प्रकरण मे निलंबित व लाइन हाजिर हुए पुलिस कर्मियो मे हड़कंप मच गया है| इस मामले में एक दरोगा सहित दो सिपाही बर्खास्त किये गए थे जिनकी अब तक गिरफ़्तारी नहीं हुई है|




गौरतलब है कि श्रवण साहू के पुत्र आयुष साहू की पुलिस के मुखबिर व अपराधी अकील अंसारी ने अपने एक साथी के साथ मिलकर ठाकुरगंज क्षेत्र मे हत्या कर दी थी| अपने बेटे के हत्यारो को सजा दिलाने के लिए वह पैरवी कर रहे थे, जिसके चलते एक फरवरी की रात श्रवण साहू की भी हत्या कर दी गई|