CBSE बोर्ड के 10वीं के छात्र छात्राओं के लिए बड़ा तोहफा, पास होना हुआ आसान

CBSE 12th results 2018, बस कुछ ही देर में जारी होगा परिणाम
CBSE 12th results 2018: बस कुछ ही देर में जारी होगा परिणाम,यहां करें चेक

नई दिल्ली। CBSE ने दसवीं बोर्ड की परीक्षा में शामिल हो रहे छात्रों के लिए बड़ी राहत दी है। CBSE के नए बदलाव के तहत अब से छात्रों को ओवरऑल 33 फीसदी अंक लाने होंगे। इसमें इंटरनल एसेसमेंट और थियोरी के अंक भी शामिल होंगे। पासिंग मार्क्स में किया गया यह बदलाव मुख्य रूप से दसवीं के छात्रों पर लागू होगा। बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार यह फैसला मुख्य रूप से छात्रों को राहत के देने के लिए लिया गया है। यह नियम इसी बार के बोर्ड परीक्षा से लागू होगा।

Cbse Changed Norms For Tenth Students :

यह नियम अतिरिक्त विषयों पर भी लागू होगा। गौरतलब है कि 30 जनवरी 2017 को सीबीएसई बोर्ड ने दसवीं बोर्ड की परीक्षा को दोबारा से शुरू करने की बात कही थी। बोर्ड ने ही उस दौरान सभी विषय अलग-अलग पास करने के लिए 33 फीसदी अंक लाने की अनिवार्यता तय की थी। वहीं वोकेशनल विषय के लिए इंटरनल एससमेंट के 50 अंक है। अलग-अलग विषय में अलग से पास करने का नियम इस कोर्स पर लागू नहीं होगा।

बोर्ड ने कुछ दिन पहले ही बोर्ड परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी किया था। छात्र अपने स्कूल से एडमिट कार्ड ले सकते हैं। बोर्ड ने प्री-बोर्ड परीक्षा में खराब प्रदर्शन करने वाले छात्रों को भी एडमिट कार्ड देने की बात कही थी।

नई दिल्ली। CBSE ने दसवीं बोर्ड की परीक्षा में शामिल हो रहे छात्रों के लिए बड़ी राहत दी है। CBSE के नए बदलाव के तहत अब से छात्रों को ओवरऑल 33 फीसदी अंक लाने होंगे। इसमें इंटरनल एसेसमेंट और थियोरी के अंक भी शामिल होंगे। पासिंग मार्क्स में किया गया यह बदलाव मुख्य रूप से दसवीं के छात्रों पर लागू होगा। बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार यह फैसला मुख्य रूप से छात्रों को राहत के देने के लिए लिया गया है। यह नियम इसी बार के बोर्ड परीक्षा से लागू होगा।यह नियम अतिरिक्त विषयों पर भी लागू होगा। गौरतलब है कि 30 जनवरी 2017 को सीबीएसई बोर्ड ने दसवीं बोर्ड की परीक्षा को दोबारा से शुरू करने की बात कही थी। बोर्ड ने ही उस दौरान सभी विषय अलग-अलग पास करने के लिए 33 फीसदी अंक लाने की अनिवार्यता तय की थी। वहीं वोकेशनल विषय के लिए इंटरनल एससमेंट के 50 अंक है। अलग-अलग विषय में अलग से पास करने का नियम इस कोर्स पर लागू नहीं होगा।बोर्ड ने कुछ दिन पहले ही बोर्ड परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड जारी किया था। छात्र अपने स्कूल से एडमिट कार्ड ले सकते हैं। बोर्ड ने प्री-बोर्ड परीक्षा में खराब प्रदर्शन करने वाले छात्रों को भी एडमिट कार्ड देने की बात कही थी।