लॉकडाउन में फंसे छात्रों को CBSE ने दी बड़ी राहत, जो छात्र जहां है, वहीं से देगा 10वीं-12वीं की बोर्ड परीक्षाएं

5805CBSE_gave_big_relief_to_students_trapped_in_lockdown,_which_will_give_10th-12th_board_examinations_from_where_the_student_is

नई दिल्ली: दसवीं और बारहवीं कक्षा के जो छात्र फिलहाल जहां हैं, वह वहीं से अपनी शेष रह गई बोर्ड परीक्षाएं दे सकेंगे। सीबीएसई नए सिरे से इन छात्रों के लिए इनके नजदीकी स्कूलों में बोर्ड परीक्षा के सेंटर बनाएगा। बुधवार शाम सीबीएसई में यह अहम निर्णय लिया गया है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, “बहुत से छात्र छात्रावासों में रह रहे थे और लॉक डाउन घोषित होने के बाद छात्रावास खाली करके अपने घर चले गए हैं। कोई छात्र केरल, कोई तमिलनाडु और कई अन्य दूरदराज के स्थानों पर जा चुके हैं। स्वयं नवोदय विद्यालय में पढ़ने वाले 3000 छात्रों को मंत्रालय की सहायता से उनके घरों को भिजवाया गया है। इसलिए छात्र जिस जनपद पर फिलहाल मौजूद हैं उनकी बोर्ड परीक्षाएं उन्हीं जनपदों पर ली जाएंगी।”

Cbse Gave Big Relief To Students Trapped In Lockdown Which Will Give 10th 12th Board Examinations From Where The Student Is :

उम्मीदवारों की समस्या को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने परीक्षा केंद्र को छात्रों के वर्तमान जिले में स्थानांतरित करने का फैसला किया है। इस संबंध में, सीबीएसई द्वारा जून के पहले सप्ताह में अधिसूचना जारी की जाएगी। सीबीएसई के मुताबिक ऐसे उम्मीदवारों को सूचित किया जाता है कि वे अपने नजदीकी स्कूलों के संपर्क में रहें। केंद्रीय मंत्री निशंक ने कहा छात्र, “छात्र अपनी परीक्षाओं के संबंध में अपने नजदीकी स्कूलों से संपर्क करें। अपनी जानकारी उन्हें प्रदान करें इसके उपरांत जून के प्रथम सप्ताह में इन छात्राओं को लेकर कार्यक्रम तैयार कर लिया जाएगा। हालांकि इसके लिए छात्रों को अपने नजदीकी स्कूलों में जाकर जानकारी देनी होगी।”

गौरतलब है कि इससे पहले सीबीएसई ने एक अहम निर्णय लेते हुए छात्रों के लिए उन्हीं के स्कूलों में परीक्षा देने की व्यवस्था की है। सामान्य तौर पर 10वीं एवं 12वीं कक्षा के छात्रों को बोर्ड परीक्षा देने के लिए दूसरे स्कूलों में बने परीक्षा केंद्रों पर जाना होता है, लेकिन कोरोना वायरस और लॉक डाउन को देखते हुए सीबीएसई ने यह फैसला लिया है। जो छात्र फिलहाल अपने स्कूलों के समीप रह रहे हैं वह अपनी परीक्षाएं अपने स्कूलों में ही देंगे।

नई दिल्ली: दसवीं और बारहवीं कक्षा के जो छात्र फिलहाल जहां हैं, वह वहीं से अपनी शेष रह गई बोर्ड परीक्षाएं दे सकेंगे। सीबीएसई नए सिरे से इन छात्रों के लिए इनके नजदीकी स्कूलों में बोर्ड परीक्षा के सेंटर बनाएगा। बुधवार शाम सीबीएसई में यह अहम निर्णय लिया गया है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, "बहुत से छात्र छात्रावासों में रह रहे थे और लॉक डाउन घोषित होने के बाद छात्रावास खाली करके अपने घर चले गए हैं। कोई छात्र केरल, कोई तमिलनाडु और कई अन्य दूरदराज के स्थानों पर जा चुके हैं। स्वयं नवोदय विद्यालय में पढ़ने वाले 3000 छात्रों को मंत्रालय की सहायता से उनके घरों को भिजवाया गया है। इसलिए छात्र जिस जनपद पर फिलहाल मौजूद हैं उनकी बोर्ड परीक्षाएं उन्हीं जनपदों पर ली जाएंगी।" उम्मीदवारों की समस्या को ध्यान में रखते हुए सीबीएसई ने परीक्षा केंद्र को छात्रों के वर्तमान जिले में स्थानांतरित करने का फैसला किया है। इस संबंध में, सीबीएसई द्वारा जून के पहले सप्ताह में अधिसूचना जारी की जाएगी। सीबीएसई के मुताबिक ऐसे उम्मीदवारों को सूचित किया जाता है कि वे अपने नजदीकी स्कूलों के संपर्क में रहें। केंद्रीय मंत्री निशंक ने कहा छात्र, "छात्र अपनी परीक्षाओं के संबंध में अपने नजदीकी स्कूलों से संपर्क करें। अपनी जानकारी उन्हें प्रदान करें इसके उपरांत जून के प्रथम सप्ताह में इन छात्राओं को लेकर कार्यक्रम तैयार कर लिया जाएगा। हालांकि इसके लिए छात्रों को अपने नजदीकी स्कूलों में जाकर जानकारी देनी होगी।" गौरतलब है कि इससे पहले सीबीएसई ने एक अहम निर्णय लेते हुए छात्रों के लिए उन्हीं के स्कूलों में परीक्षा देने की व्यवस्था की है। सामान्य तौर पर 10वीं एवं 12वीं कक्षा के छात्रों को बोर्ड परीक्षा देने के लिए दूसरे स्कूलों में बने परीक्षा केंद्रों पर जाना होता है, लेकिन कोरोना वायरस और लॉक डाउन को देखते हुए सीबीएसई ने यह फैसला लिया है। जो छात्र फिलहाल अपने स्कूलों के समीप रह रहे हैं वह अपनी परीक्षाएं अपने स्कूलों में ही देंगे।