CBSE पेपर लीक : अब Google बताएगा किसने किया था पेपर लीक

CBSE पेपर लीक, Google
CBSE पेपर लीक : अब Google बताएगा किसने किया था पेपर लीक

Cbse Paper Leak Inquiry Information From Google

नई दिल्ली। यूं तो देश में कई परीक्षाओं के पेपर लीक हो चुके हैं लेकिन पहली बार लीक हुए सीबीएसई परीक्षा के पेपर ने पूरे देश में खलबली मचा दी है। हो भी क्यों न देश के करीब 28 लाख छात्र इस पेपर लीक से प्रभावित हुए हैं। पेपर लीक की बातें काफी पहले से ही मीडिया से लेकर लोगों के बीच चल रही थी। आरोप यह भी है कि सीबीएसई ने इस पूरे मामले में काफी ढिलाई बरती। मामले के तूल पकड़ने के बाद सीबीएसई ने दो परीक्षाओं को रद्द कर दिया। इन प्रदर्शनों और छात्रों और अभिभावकों की नाराजगी के मद्देनजर कुशक रोड स्थित केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के घर के आसपास धारा 144 लगा दी गई है।

कांग्रेस ने कहा- मंत्रालय की नाकामी 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा है, ‘यह HRD मंत्रालय की नाकामी को दिखाता है। 28 लाख स्टूडेंट्स का भविष्य दांव पर है। हम इस मामले को संसद में उठाएंगे।’ वहीं, कपिल सिब्बल ने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि सीबीएसई पेपर लीक केवल पेपर लीक नहीं है। SSC स्कैम एक और बड़ी चिंता है। अगर सरकार इसकी जिम्मेदारी नहीं लेती है तो कौन लेगा?

क्राइम ब्रांच ने मांगी गूगल से मदद

 इसके अलावा दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने गूगल से उस मेल की तमाम जानकारी मांगी है। जिस मेल से सीबीएसई को पेपर लीक की शिकायत मिली थी। सीबीएसई द्वारा मांगी गई जानकारी में यह पूछा गया है कि वह मेल कहां जनरेट हुआ था और कहां से वह मेल किया गया था।
ये टीम कर रही है मामले की जांच
आप को बता दें कि मामले की जांच के लिए पुलिस के दो उपायुक्तों, चार सहायक पुलिस आयुक्तों और पांच निरीक्षकों का एक विशेष जांच दल गठित किया गया है। यह दल संयुक्त पुलिस आयुक्त( अपराध) की निगरानी में काम कर रही है इस बाबत दिल्ली पुलिस ने दो मामले दर्ज किए हैं। इकॉनोमिक्स का पेपर लीक होने के संबंध में पहला मामला 27 मार्च को और गणित का पेपर लीक होने का मामला 28 मार्च को दर्ज किया गया। सीबीएसई के क्षेत्रीय निदेशक की शिकायत पर ये मामले दर्ज किए गए। ये मामले आपराधिक विश्वासघात, धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश के आरोप में दर्ज किए गए हैं।
नई दिल्ली। यूं तो देश में कई परीक्षाओं के पेपर लीक हो चुके हैं लेकिन पहली बार लीक हुए सीबीएसई परीक्षा के पेपर ने पूरे देश में खलबली मचा दी है। हो भी क्यों न देश के करीब 28 लाख छात्र इस पेपर लीक से प्रभावित हुए हैं। पेपर लीक की बातें काफी पहले से ही मीडिया से लेकर लोगों के बीच चल रही थी। आरोप यह भी है कि सीबीएसई ने इस पूरे मामले में काफी ढिलाई बरती। मामले…