मुख्य सचिव मामला : सीएम आवास के सीसीटीवी फुटेज से हुई छेड़छाड़, फारेंसिक जांच की मांग

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशुल प्रकाश के साथ सीएम अरविन्द केजरीवाल के आवास पर आप विधायकों द्वारा की गई अभद्रता के मामले में साक्ष्य माने जा रहे सीसीटीवी फुटेज को लेकर दिल्ली पुलिस ने संदेह जाहिर किया है। पुलिस ने इस मामले की सुनवाई कर रही हाईकोर्ट की पीठ के सामने सोमवार को कहा है कि सीएम आवास के कैमरों के साथ छेड़छाड़ हुई है, इसलिए सीसीटीवी ​फुटेज की फारेंसिक जांच करवानी चाहिए।

दिल्ली पुलिस ने अदालत के सामने स्पष्ट किया है कि 45 पुलिसकर्मियों ने मुख्य सचिव से अभद्रता के मामले में मुख्यमंत्री आवास पर छानबीन की थी। कार्रवाई के दौरान सामने आया है कि मुख्यमंत्री आवास पर लगे 21 सीसीटीवी कैमरों में से 7 कैमरे खराब हैं। आवास के जिस कमरे में सीएस के साथ अभद्रता हुई उसका भी कैमरा खराब मिला है।

{ यह भी पढ़ें:- दिल्ली पुलिस के शूटआउट में मोस्ट वांटेड राजेश भारती समेत चार बदमाश ढेर }

इसके अलावा मुख्यमंत्री आवास के कैमरों की रिर्काडिंग रियल टाइम से करीब 45 मिनट पीछे चलती पाई गई। जिससे स्पष्ट है कि सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग करने वाले डीवीआर के साथ साजिशन ऐसा किया गया है, क्योंकि मुख्यमंत्री आवास की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए ऐसा किसी गलतीवश होना संभव नहीं है।

मालूम हो कि दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव अंशुल प्रकाश ने आरोप लगाया था कि 17 फरवरी की रात करीब 12 बजे उन्हें मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के निजी सचिव ने बैठक के लिए बुलाया था। जहां मौजूद पार्टी विधायकों ने उनके साथ धक्कामुक्की की और उन्हें दो थप्पड़ भी मारे।

{ यह भी पढ़ें:- दिल्ली में हैवानियत: छात्रा को बंधक बनाकर 10 दिन तक किया रेप, लोहे के तार से की पिटाई }

18 फरवरी को इस मामले को लेकर मुखर हुए अंशुल प्रकाश ने आप पार्टी के विधायक प्रकाश जारवाल और अमानतुल्ला खान के खिलाफ मामला दर्ज करवाया था। जिन्हें आदलत ने गिरफ्तारी के बाद 14 दिन की रिमांड पर तिहाड़ भेज दिया था।

सीएस अंशुल प्रकाश के साथ हुई अभद्रता के मामले को लेकर दानिक्स एसोसिएशन ने हड़ताल कर दी थी। फिलहाल नौकरशाही सहशर्त काम पर लौट गई है, लेकिन इस मामले को लेकर दिल्ली सरकार और नौकशाही के बीच तनातनी जारी है।

{ यह भी पढ़ें:- दिल्ली में नौकरशाही और सरकार के बीच तनातनी जारी, सीएम की मांफी पर डटी आईएएस एसोसिएशन }