1. हिन्दी समाचार
  2. CAA और NRC को लेकर मुसलमानों की आशंकाओं को जल्द दूर करें केंद्र सरकार : मायावती

CAA और NRC को लेकर मुसलमानों की आशंकाओं को जल्द दूर करें केंद्र सरकार : मायावती

Center Should Clear The Fears Of Muslims About Caa And Nrc Mayawati

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों में विरोध प्रदर्शन हो रहा है। कई जगह यह विरोध प्रदर्शन हिंसा का रूप में लिया। वहीं, बसपा सुप्रीमो मायावती ने केंद्र सरकार से मांग की है कि सीएए और एनआरसी को लेकर मुस्लिम समाज में फैली आशंकाओं को जल्द दूर करे। वहीं, मायावती नागरिकता कानून को लेकर लगातार केंद्र सरकार पर निशाना साध रहीं हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि वह इस कानून का विरोध करती हैं।

पढ़ें :- यूपी विधान परिषद चुनावः भाजपा-सपा के सभी प्रत्याशियों का निर्वाचन तय, महेश शर्मा का नामांकन खारिज

मायावती ने मंगलवार को ट्वीट करते हुए कहा कि, ‘बीएसपी की मांग है कि केन्द्र सरकार CAA/NRC को लेकर खासकर मुसलमानों की सभी आशंकाओं को जल्दी दूर करे तभा उनको पूरे तौर पर संतुष्ट भी करना चाहिए तो यह बेहतर होगा। लेकिन इसके साथ ही मुस्लिम समाज के लोग सावधान भी रहें। कहीं इस मुद्दे की आड़ में उनका राजनैतिक शोषण तो नहीं हो रहा है और वे उसमें पिसने लगे हैं।’

पढ़ें :- IND VS AUS: जीत के बाद बॉलीवुड एक्टर ने दिये गज़ब रिएक्शन, शाहरुख की उडी नींद तो रितेश बोले...

बता दें कि, मायावती ने नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान यूपी समेत देशभर में हुई हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताया था। उन्होंने कहा था कि, बसपा हमेशा हिंसक प्रदर्शन के खिलाफ रहती है, ऐसे में उत्तर प्रदेश समेत अन्य हिस्सों में जल रही हिंसा की आग दुखद है।

प्रियंका की सक्रियता के बाद बसपा के नेता पीड़ित परिवार से करेंगे मुलाकात
नागरिकता कानून के विरोध में हुई हिंसा के दौरान मारे गए लोगों से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मुलाकात कर रहीं हैं। अचानक वह बिजनौर पहुंच गयीं थीं, जिसके बाद वहां पीड़ित परिवार से मुलाकात की थी। वहीं आज मेरठ पीड़ित परिवार से मिलने जा रहीं थी, तभी पुलिस ने उन्हें रोक दिया। इस बीच बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रदेश अध्यक्ष मुनकाद अली को इसके लिए अधिकृत किया है। उनका कहना है कि विरोध के दौरान जो लोग मारे गए हैं, उनसे प्रदेश अध्यक्ष स्थानीय नेताओं के साथ जाकर पीड़ित परिवार से मुलाकात करें।

पढ़ें :- भारत की ऑस्ट्रेलिया पर ऐतिहासिक जीत, कंगारूओं को उन्हीं की धरती पर हराया

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...