शाहीन बाग पर बोले केन्द्रीय गिरिराज सिंह, यहां आत्मघाती जत्थे तैयार किए जा रहे

giriraj singh
सहारनपुर में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले- देवबंद आतंकवाद की गंगोत्री है

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी नेता शाहीन बाग का मुद्दा लगातार उठा रहे हैं। गुरुवार को बीजेपी सांसद और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर कहा कि शाहीन बाग़ अब सिर्फ आंदोलन नही रह गया है, यहां सुसाइड बॉम्बर का जत्था बनाया जा रहा है।

Central Giriraj Singh Said On Shaheen Bagh Suicide Batches Are Being Prepared Here :

<blockquote class=”twitter-tweet”><p lang=”hi” dir=”ltr”>यह शाहीन बाग़ अब सिर्फ आंदोलन नही रह गया है ..यहाँ सूइसाइड बॉम्बर का जत्था बनाया जा रहा है।<br>देश की राजधानी में देश के खिलाफ साजिश हो रही है। <a href=”https://t.co/NoD98Zfwpx”>pic.twitter.com/NoD98Zfwpx</a></p>&mdash; Shandilya Giriraj Singh (@girirajsinghbjp) <a href=”https://twitter.com/girirajsinghbjp/status/1225268618683772928?ref_src=twsrc%5Etfw”>February 6, 2020</a></blockquote> <script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

देश की राजधानी में ही बैठकर देश के खिलाफ साजिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि शाहीन बाग में एक महिला का बच्चा ठंड में मर जाता है और वो महिला कहती है कि मेरा बेटा शहीद हुआ। ये सुसाइड बॉम्ब नहीं तो और क्या है। अगर भारत को बचाना है तो ये सुसाइड बॉम्ब, खिलाफत आंदोलन 2 से देश को सजग करना होगा। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा कि इन बच्चों को सुने। इनके दिमाग में जो इतना जहर भरा जा रहा है ..ये खिलाफत आंदोलन नहीं तो और क्या है।

बता दें कि लोकसभा में बजट सत्र के दौरान राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा करते हुए भाजपा के युवा सांसद तेजस्वी सूर्या ने शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन की आलोचना की। उन्होंने कहा कि बहुसंख्यक समाज को सतर्क रहने की जरूरत है, नहीं तो मुगल शासन फिर लौट सकता है।

उन्होंने लोकसभा में कहा कि यदि बहुसंख्यक समुदाय सतर्क नहीं रहा तो मुगल राज दूर नहीं है। उनके इस बयान के बाद विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया। तेजस्वी ने मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि पुराने घावों को भरे बिना नए भारत का निर्माण नहीं हो सकता है।

उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कहा कि इससे पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से प्रताड़ित होकर आए अल्पसंख्यकों को नागरिकता दी जाएगी। विपक्ष भी जानता है कि सीएए का यहां किसी से कोई लेनादेना नहीं है, उसके बाद भी विरोध किया जा रहा है।

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी नेता शाहीन बाग का मुद्दा लगातार उठा रहे हैं। गुरुवार को बीजेपी सांसद और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट कर कहा कि शाहीन बाग़ अब सिर्फ आंदोलन नही रह गया है, यहां सुसाइड बॉम्बर का जत्था बनाया जा रहा है। <blockquote class="twitter-tweet"><p lang="hi" dir="ltr">यह शाहीन बाग़ अब सिर्फ आंदोलन नही रह गया है ..यहाँ सूइसाइड बॉम्बर का जत्था बनाया जा रहा है।<br>देश की राजधानी में देश के खिलाफ साजिश हो रही है। <a href="https://t.co/NoD98Zfwpx">pic.twitter.com/NoD98Zfwpx</a></p>&mdash; Shandilya Giriraj Singh (@girirajsinghbjp) <a href="https://twitter.com/girirajsinghbjp/status/1225268618683772928?ref_src=twsrc%5Etfw">February 6, 2020</a></blockquote> <script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script> देश की राजधानी में ही बैठकर देश के खिलाफ साजिश की जा रही है। उन्होंने कहा कि शाहीन बाग में एक महिला का बच्चा ठंड में मर जाता है और वो महिला कहती है कि मेरा बेटा शहीद हुआ। ये सुसाइड बॉम्ब नहीं तो और क्या है। अगर भारत को बचाना है तो ये सुसाइड बॉम्ब, खिलाफत आंदोलन 2 से देश को सजग करना होगा। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा कि इन बच्चों को सुने। इनके दिमाग में जो इतना जहर भरा जा रहा है ..ये खिलाफत आंदोलन नहीं तो और क्या है। बता दें कि लोकसभा में बजट सत्र के दौरान राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा करते हुए भाजपा के युवा सांसद तेजस्वी सूर्या ने शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन की आलोचना की। उन्होंने कहा कि बहुसंख्यक समाज को सतर्क रहने की जरूरत है, नहीं तो मुगल शासन फिर लौट सकता है। उन्होंने लोकसभा में कहा कि यदि बहुसंख्यक समुदाय सतर्क नहीं रहा तो मुगल राज दूर नहीं है। उनके इस बयान के बाद विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया। तेजस्वी ने मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि पुराने घावों को भरे बिना नए भारत का निर्माण नहीं हो सकता है। उन्होंने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कहा कि इससे पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से प्रताड़ित होकर आए अल्पसंख्यकों को नागरिकता दी जाएगी। विपक्ष भी जानता है कि सीएए का यहां किसी से कोई लेनादेना नहीं है, उसके बाद भी विरोध किया जा रहा है।