केंद्र सरकार ने किया राम मंदिर ट्रस्ट का ऐलान, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र होगा नाम

pm modi 1
केंद्र सरकार ने किया राम मंदिर ट्रस्ट का ऐलान, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र होगा नाम

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार ने कैबिनेट में आज राम मंदिर ट्रस्ट का ऐलान किया है। हालांकि अभी ट्रस्ट के सदस्यों के नामों की घोषणा नहीं की गयी है। सूत्रों की माने तो आज ही नामों का भी ऐलान किया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के 87 दिन बाद इसकी रूपरेखा तैयार हो चुकी है। सूत्रों के मुताबिक, इस ट्रस्ट में महंत नृत्य गोपाल दास को बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है।

Central Government Announced Ram Temple Trust Pm Modi Is Speaking In Parliament :

बताया जा रहा है कि राम मंदिर ट्रस्ट में दिगंबर अखाड़ा, निर्मोही अखाड़ा और रामलला विराजमान तीनों से एक एक सदस्य को शामिल किया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक, मोदी सरकार इस ट्रस्ट से अपने आपको लगभग अलग रखना चाहती है, इसलिए किसी पदेन अधिकारी को इसमें जगह मिलने की गुंजाइश कम कम दिख रही है, हालांकि कुछ पूर्व नौकरशाह नामित हो सकते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि करोड़ों देशवासियों की तरह ही मेरे हृदय के करीब इस विषय पर बात करना मैं अपना सौभाग्य समझता हूं। ये विषय श्रीराम जन्म भूमि से जुड़ा हुआ है। इसके बाद पीएम ने संसद में राम मंदिर ट्रस्ट का एलान किया। उन्होंने बताया कि इस ट्रस्ट का नाम ‘श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट’ होगा। पीएम ने कहा कि यह ट्रस्ट अयोध्या में भगवान राम की जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए किसी तरह का निर्णय लेने कि लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा।

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार ने कैबिनेट में आज राम मंदिर ट्रस्ट का ऐलान किया है। हालांकि अभी ट्रस्ट के सदस्यों के नामों की घोषणा नहीं की गयी है। सूत्रों की माने तो आज ही नामों का भी ऐलान किया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के 87 दिन बाद इसकी रूपरेखा तैयार हो चुकी है। सूत्रों के मुताबिक, इस ट्रस्ट में महंत नृत्य गोपाल दास को बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। बताया जा रहा है कि राम मंदिर ट्रस्ट में दिगंबर अखाड़ा, निर्मोही अखाड़ा और रामलला विराजमान तीनों से एक एक सदस्य को शामिल किया जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक, मोदी सरकार इस ट्रस्ट से अपने आपको लगभग अलग रखना चाहती है, इसलिए किसी पदेन अधिकारी को इसमें जगह मिलने की गुंजाइश कम कम दिख रही है, हालांकि कुछ पूर्व नौकरशाह नामित हो सकते हैं। पीएम मोदी ने कहा कि करोड़ों देशवासियों की तरह ही मेरे हृदय के करीब इस विषय पर बात करना मैं अपना सौभाग्य समझता हूं। ये विषय श्रीराम जन्म भूमि से जुड़ा हुआ है। इसके बाद पीएम ने संसद में राम मंदिर ट्रस्ट का एलान किया। उन्होंने बताया कि इस ट्रस्ट का नाम 'श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट' होगा। पीएम ने कहा कि यह ट्रस्ट अयोध्या में भगवान राम की जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए किसी तरह का निर्णय लेने कि लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा।