अल्पसंख्यकों के लिए पांच यूनिवर्सिटी खोलने वाली है केंद्र सरकार

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों को चिकित्सा समेत अन्य आधुनिक और उच्चस्तरीय शिक्षा दिलाने के लिए पांच नई यूनिवर्सिटी खोलने का फैसला किया है। इस बात की जानकारी गुरुवार को केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने दी। नकवी ने कहा कि इनमे छात्राओ को 40 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘हम विश्व स्तरीय पांच विश्वविद्यालय स्थापित करना चाहते है। इनमें आवासीय स्कूल, आयुर्वेद और यूनानी चिकित्सा शिक्षा के लिए बड़े कैंपस होंगे।’




इन विश्वविद्यालयों को अल्पसंख्यक सस्थान का दर्ज़ा देना है या नही इस सवाल पर नकवी ने कहा कि इसका फैसला उच्चस्तरीय समिति करेगी। हालांकि उन्होने ये भी कहा कि इनमे गैर अल्पसंख्यक समुदाय के छात्र भी शिक्षा हांसिल कर सकते हैं। वर्ष 2018-2019 के सत्र शुरू कर दिया जाएगा। मंत्रालय ने तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और झारखंड में गुरुकुल पद्धति पर आधारित 16 स्कूलों को भी मंजूरी दी है।




नक़वी मौलाना आजाद ने आजाद एजुकेशन फाउंडेशन की आमसभा की बैठक की अध्यक्षता करते वक्त ‘गरीब नवाज स्किल डेवलपमेंट सेंटर’ खोलने और लड़कियों को ‘बेगम हजरत महल छात्रवृत्ति’ देने का भी निर्णय लिया गया।

Loading...