यूपी निकाय चुनाव: शहर की सरकार का शपथ ग्रहण समारोह, मेरठ में वन्देमातरम् पर विवाद

लखनऊ। राजधानी लखनऊ की पहली महिला मेयर संयुक्ता भाटिया आज पद और गोपनीयता की शपथ लेंगी। उत्तर प्रदेश के 652 नगर निकायों के लिए चुने गए मेयर, चेयरमैन और सभासद मंगलवार को शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन सभी नगर निकायों में होगा। इस कार्यक्रम में प्रभारी मंत्रियों को भी अपने प्रभार वाले जिलों के समारोह में शामिल होना है।

Ceremony Of Taking Oath Of Mayor And Municipal Councilors In Uttar Pradesh :

शपथ ग्रहण समारोह में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा, प्रदेश और केंद्र सरकार के मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे। नवाबों के शहर को 100 साल में पहली बार महिला मेयर मिली है। लखनऊ में 1916 में म्युनिसिपल एक्ट बना था, तब से अब तक यहां पुरुष मेयर चुने गए थे। इस सीट के लिए संयुक्ता भाटिया ने समाजवादी पार्टी की मीरा वर्धन और बहुजन समाजवादी पार्टी की बुलबुल गोडियाल को चुनाव हराया था।

मेरठ में वन्देमातरम् को लेकर हुआ विवाद-

मेरठ नगर निगम में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान वन्देमातरम् को लेकर सदन में बवाल मच गया। यहां शपथ ग्रहण समारोह वन्देमातरम् गायन के साथ शुरू हुआ तो नई मेयर सुनीता वर्मा और बीएसपी के पार्षद बैठे रहे। इसके विरोध में भाजपा पार्षदों ने नारेबाजी शुरू कर दी। देखते ही देखते दोनों तरफ से नारेबाजी होने लगी।

बसपा से जीत कर आईं नई मेयर सुनीता वर्मा ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में ही साफ कर दिया था कि सदन की कार्यवाही में वन्देमातरम् नहीं है, इसलिए वह इसे नहीं गाएंगीं। इस दौरान भाजपा नेताओं ने बसपा मेयर के होर्डिंग फाड़ दिए। वहीं पुलिस प्रशासन मूकदर्शक दिखाई दिया।

लखनऊ। राजधानी लखनऊ की पहली महिला मेयर संयुक्ता भाटिया आज पद और गोपनीयता की शपथ लेंगी। उत्तर प्रदेश के 652 नगर निकायों के लिए चुने गए मेयर, चेयरमैन और सभासद मंगलवार को शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन सभी नगर निकायों में होगा। इस कार्यक्रम में प्रभारी मंत्रियों को भी अपने प्रभार वाले जिलों के समारोह में शामिल होना है। शपथ ग्रहण समारोह में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा, प्रदेश और केंद्र सरकार के मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे। नवाबों के शहर को 100 साल में पहली बार महिला मेयर मिली है। लखनऊ में 1916 में म्युनिसिपल एक्ट बना था, तब से अब तक यहां पुरुष मेयर चुने गए थे। इस सीट के लिए संयुक्ता भाटिया ने समाजवादी पार्टी की मीरा वर्धन और बहुजन समाजवादी पार्टी की बुलबुल गोडियाल को चुनाव हराया था। मेरठ में वन्देमातरम् को लेकर हुआ विवाद- मेरठ नगर निगम में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान वन्देमातरम् को लेकर सदन में बवाल मच गया। यहां शपथ ग्रहण समारोह वन्देमातरम् गायन के साथ शुरू हुआ तो नई मेयर सुनीता वर्मा और बीएसपी के पार्षद बैठे रहे। इसके विरोध में भाजपा पार्षदों ने नारेबाजी शुरू कर दी। देखते ही देखते दोनों तरफ से नारेबाजी होने लगी। बसपा से जीत कर आईं नई मेयर सुनीता वर्मा ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में ही साफ कर दिया था कि सदन की कार्यवाही में वन्देमातरम् नहीं है, इसलिए वह इसे नहीं गाएंगीं। इस दौरान भाजपा नेताओं ने बसपा मेयर के होर्डिंग फाड़ दिए। वहीं पुलिस प्रशासन मूकदर्शक दिखाई दिया।