1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Chaitra Purnima 2022: चैत्र पूर्णिमा पर कर लें ये खास उपाय, इस वृक्ष में कुछ मीठा चढ़ाकर करना चाहिए जल अर्पित

Chaitra Purnima 2022: चैत्र पूर्णिमा पर कर लें ये खास उपाय, इस वृक्ष में कुछ मीठा चढ़ाकर करना चाहिए जल अर्पित

पूर्णिमा संस्कृत का शब्द है। पूर्णिमा का दिन प्रत्येक महीने में वह दिन (तिथि) होता है जब पूर्णिमा होती है, और प्रत्येक महीने में दो चंद्र पखवाड़े (पक्ष) के बीच विभाजन को चिह्नित करता है, और चंद्रमा बिल्कुल एक सीधी रेखा में संरेखित होता है।

By अनूप कुमार 
Updated Date

Chaitra Purnima 2022 : पूर्णिमा संस्कृत का शब्द है। पूर्णिमा का दिन प्रत्येक महीने में वह दिन (तिथि) होता है जब पूर्णिमा होती है, और प्रत्येक महीने में दो चंद्र पखवाड़े (पक्ष) के बीच विभाजन को चिह्नित करता है, और चंद्रमा बिल्कुल एक सीधी रेखा में संरेखित होता है। हिंदी माह की अंतिम तिथि पूर्णिमा  कहलाती है। हिंदू धर्म शास्त्रों में चैत्र माह की पूर्णिमा  का विशेष महत्व है।  चैत्र माह में पड़ने वाली पूर्णिमा साल की पहली पूर्णिमा होती है। इस साल चैत्र पूर्णिमा 16 अप्रैल को पड़ रही है। मान्यता है  इस दिन कुछ  खास उपाय करने से मां लक्ष्मी  की विशेष कृपा प्राप्त होती है और जीवन में आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होती है। चैत्र की पूर्णिमा के दिन हनुमान जयंती मनाई जाती है। चैत्र की पूर्णिमा के दिन प्रेम पूर्णिमा पति व्रत मनाया जाता है।

पढ़ें :- Astro Tips For Money : इस पाठ को करने से देवी लक्ष्मी की प्रसन्न होती है, आर्थिक संकटों से घबराएं नहीं  

1. पूर्णिमा के दिन पीपल के वृक्ष में मां लक्ष्मी का आगमन होता है। ऐसे में इस दिन सुबह स्नान के बाद पीपल में कुछ मीठा चढ़ाकर जल अर्पित करना चाहिए। ऐसा करने से आर्थिक स्थिति बेहतर होती है।

2.वैवाहिक जीवन में खुशहाली के लिए भी पूर्णिमा तिथि खास मानी जाती है। मान्यता है कि अगर पति-पत्नी साथ में चंद्रमा को अर्घ्य देते हैं तो उनके वैवाहिक जीवन में मधुरता बरकरार रहती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...