1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Chandra Grahan 2022: चंद्र ग्रहण में करें हवन, बढ़ेगी सुख-समृद्धि और जाग उठेगी सोई किस्मत

Chandra Grahan 2022: चंद्र ग्रहण में करें हवन, बढ़ेगी सुख-समृद्धि और जाग उठेगी सोई किस्मत

Chandra Grahan 2022 : हिंदू धर्म में ग्रहण को अशुभ घटना माना जाता है। जिसका मनुष्य के अलावा पृथ्वी पर मौजूद सभी जीव-जंतु पर नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलता है। बता दें कि आगामी 8 नवंबर 2022 दिन मंगलवार को साल का दूसरा और आखिरी चंद्र ग्रहण लग रहा है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण काल में बहुत से काम करना वर्जित होता है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Chandra Grahan 2022 : हिंदू धर्म में ग्रहण को अशुभ घटना माना जाता है। जिसका मनुष्य के अलावा पृथ्वी पर मौजूद सभी जीव-जंतु पर नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलता है। बता दें कि आगामी 8 नवंबर 2022 दिन मंगलवार को साल का दूसरा और आखिरी चंद्र ग्रहण लग रहा है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार ग्रहण काल में बहुत से काम करना वर्जित होता है। जैसे ग्रहण काल में सोना नहीं चाहिए, भगवान को स्पर्श न करें, भोजन ग्रहण न करें, गर्भवती महिलाएं बाहर न निकलें साथ ही चाकू, कैंची का उपयोग न करें आदि। ज्योतिषी व पंडित गोरखनाथ मिश्र बता रहे हैं ग्रहण के बाद यज्ञ करने के फायदे।

पढ़ें :- Falgun Month Festivals 2023 : फाल्गुन माह में महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है, जानें इस माह के तीज-त्योहारों के बारे में

ग्रहण के बाद हवन के फायदे

ग्रहण काल में या ग्रहण के बाद जो व्यक्ति हवन करता है तो उसे पुण्य फल की प्राप्ति होती है। यह यज्ञ आमतौर पर किए जाने वाले यज्ञों से लाख गुना अधिक फलदाई होता है। इस बात का उल्लेख महर्षि वेदव्यास द्वारा लिखित ग्रंथों में मिलता है।

हवन करने से घर का वातावरण शुद्ध होता है. ग्रहण काल में वातावरण में फैली नकारात्मक ऊर्जा हवन करने से नष्ट होती है। हवन से निर्मित दैवीय ऊर्जा घर में सुख समृद्धि लेकर आती है। जिसका सभी पर सकारात्मक प्रभाव देखने को मिलता है।

ग्रहण काल में या ग्रहण के पश्चात किये जाने वाले यज्ञ से अस्वस्थ्य व्यक्ति को स्वास्थ लाभ मिलता है। व्यापार में आर्थिक लाभ होता है। आर्थिक तंगी दूर होती है। नि: संतान दंपत्ति को संतान प्राप्ति के योग बन सकते हैं।

पढ़ें :- Magha Purnima 2023 : माघी पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान से होती है मोक्ष की प्राप्ति ,अन्न दान का विशेष महत्व है

ग्रहण मे यज्ञ करने से विवाह में आ रही देरी दूर होती है।वैवाहिक जीवन में आ रही समस्याएं दूर होती हैं। इसके अलावा आपके शत्रु पराजित होते हैं।

ग्रहण के दौरान किए गए यज्ञ से मनुष्य के जीवन में आ रही समस्याएं दूर होती हैं। सुख-समृद्धि और सौभाग्य की प्राप्ति होती है। आपके कष्टों को हवन जला कर राख कर देता है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...