चप्पल कांड: भाजपा नेत्री सोनाली फोगाट गिरफ्तार, तुरंत जमानत भी मिली

5645Chappal_scandal_BJP_leader_Sonali_Phogat_arrested,_bail_granted_immediately

हिसार: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेत्री सोनाली फोगाट को हिसार मंडी कमेटी सदस्य सुल्तान सिंह को पिछली पांच जून को बालसमंद मंडी में पीटने के मामले में आज गिरफ्तार किया गया और बाद में अदालत से जमानत मिलने पर रिहा किया गया। पुलिस ने बताया कि सोनाली फोगाट व समर्थकों आशीष, अमित बिस्ला, सुभाष शर्मा, रवि, सुधीर आदि की गिरफ्तारी दर्ज करने के बाद पुलिस ने इनको अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (एसीजेएम) शिफा की कोर्ट में पेश किया, जहां से इन सभी को जमानत मिल गई।

Chappal Scandal Bjp Leader Sonali Phogat Arrested Bail Granted Immediately :

सुल्तान सिंह के वकील महेन्द्र सिंह नैन व योगेश सिहाग ने आरोपियों को जमानत दिए जाने का विरोध किया। वकील सिहाग ने बाद में पत्रकारों को बताया कि फोगाट को कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर अदालत ने 20 हजार रूपए के बेल बांड पर रिहा करने का आदेश दिया। फोगाट की ओर से मामले की पैरवी कर रहे वकील दलीप जाखड़ ने बताया कि पुलिस ने मामले की जांच का काम पूरा कर लिया है और आज ही अदालत में मामले का चालान भी पेश कर दिया गया।

पांच जून को हिसार के गांव बालसमंद में अस्थाई अनाज मंडी में शेड निर्माण को लेकर बातचीत के लिए अपने समर्थकों के साथ मंडी पहुंची सोनाली फोगाट ने पुलिस की उपस्थिति में सुल्तान सिंह को चप्पलों व थप्पड़ों से पीटा था। घटना का वीडियो वायरल होने पर बवाल मच गया था। सोनाली ने सुल्तान सिंह पर अपशब्द बोलने का आरोप लगाया था। पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायत पर दो मामले दर्ज किये थे।

विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से लेकर सरकारी कर्मचारियों के कई संगठनों ने सोनाली की गिरफ्तारी की मांग की थी और प्रदेश भर के मंडी कमेटी कर्मचारी लगातार धरने-प्रदर्शन कर रहे थे। सुल्तान सिंह ने फोगाट की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह लोकतंत्र और आम जनमानस की जीत है। उन्होंने कहा कि खाप पंचायत व कर्मचारी संगठन जो उनके साथ खड़े हैं, यह उन सभी की जीत है। उन्होंने कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।

भारतीय सैनिकों से चीनी इलाके में हुई हिंसक झड़प, हम जिम्मेदार नहींः चीन

हिसार: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेत्री सोनाली फोगाट को हिसार मंडी कमेटी सदस्य सुल्तान सिंह को पिछली पांच जून को बालसमंद मंडी में पीटने के मामले में आज गिरफ्तार किया गया और बाद में अदालत से जमानत मिलने पर रिहा किया गया। पुलिस ने बताया कि सोनाली फोगाट व समर्थकों आशीष, अमित बिस्ला, सुभाष शर्मा, रवि, सुधीर आदि की गिरफ्तारी दर्ज करने के बाद पुलिस ने इनको अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (एसीजेएम) शिफा की कोर्ट में पेश किया, जहां से इन सभी को जमानत मिल गई। सुल्तान सिंह के वकील महेन्द्र सिंह नैन व योगेश सिहाग ने आरोपियों को जमानत दिए जाने का विरोध किया। वकील सिहाग ने बाद में पत्रकारों को बताया कि फोगाट को कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर अदालत ने 20 हजार रूपए के बेल बांड पर रिहा करने का आदेश दिया। फोगाट की ओर से मामले की पैरवी कर रहे वकील दलीप जाखड़ ने बताया कि पुलिस ने मामले की जांच का काम पूरा कर लिया है और आज ही अदालत में मामले का चालान भी पेश कर दिया गया। पांच जून को हिसार के गांव बालसमंद में अस्थाई अनाज मंडी में शेड निर्माण को लेकर बातचीत के लिए अपने समर्थकों के साथ मंडी पहुंची सोनाली फोगाट ने पुलिस की उपस्थिति में सुल्तान सिंह को चप्पलों व थप्पड़ों से पीटा था। घटना का वीडियो वायरल होने पर बवाल मच गया था। सोनाली ने सुल्तान सिंह पर अपशब्द बोलने का आरोप लगाया था। पुलिस ने दोनों पक्षों की शिकायत पर दो मामले दर्ज किये थे। विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं से लेकर सरकारी कर्मचारियों के कई संगठनों ने सोनाली की गिरफ्तारी की मांग की थी और प्रदेश भर के मंडी कमेटी कर्मचारी लगातार धरने-प्रदर्शन कर रहे थे। सुल्तान सिंह ने फोगाट की गिरफ्तारी पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह लोकतंत्र और आम जनमानस की जीत है। उन्होंने कहा कि खाप पंचायत व कर्मचारी संगठन जो उनके साथ खड़े हैं, यह उन सभी की जीत है। उन्होंने कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। भारतीय सैनिकों से चीनी इलाके में हुई हिंसक झड़प, हम जिम्मेदार नहींः चीन